आर्मी में कितनी सैलरी होती है? Army Salary In India

Army Officer Salary – हर साल देश में लाखो नौजवान इंडियन आर्मी में शामिल होते है कोई डायरेक्ट भर्ती से होते है तो कोई NDA के माध्यम से होते है. ऐसे में एक सवाल आता है की सेना में मिलती है कितनी सैलरी? बहुत सारे लोग सोचते है आर्मी का जवान बॉर्डर पर सेवा कर रहा है और अब आर्मी में कितनी सैलरी होती है? लोग के सामने होने चाहिए. आर्मी का वेतन कितना होता है? ये सभी को पता होना चाहिए क्योकि देश में हर एक डिपार्टमेंट के लोग सैलरी को लेकर हंगामा करते है लेकिन आर्मी के लोगो के सैलरी को लेकर कोई कभी नहीं बात करता है.

हर साल देश में आर्मी भर्ती रैली होते है जिसके माध्यम से देश के लाखो नौजवान भारतीय सेना को ज्वाइन करते है और साथ में नेशनल डिफेन्स अकादमी के माध्यम से होते है. ऐसे में सरकार देश के जवानो को हर महीने एक तय सैलरी होती है और आपको आर्मी के एक सिपाही से लेकर कर्नल, जनरल और मेजर जैसे बहुत सारे पोजीशन होते है.

आर्मी को 7th pay scale के हिसाब से सैलरी मिलता है और साथ में बहुत सारे सुविधाएं मिलती है. जो की जरुरी होना चाहिए और यहाँ पर हम इंडियन आर्मी के बहुत सारे पोजीशन पर क्या क्या सैलरी मिलता है. इनके बारे में विस्तार से जानकारी हासिल करेंगे। आर्मी में शामिल होने वाले जवानों को पेबैंड, ग्रेड पे, सैन्य सेवा और एक्स ग्रुप की कैटगरी में अलग-अलग अलाउंसेस दिए जाते हैं. आईये जानते है.

आर्मी में मिलती है कितनी सैलरी, जानें डीटेल में

सेना में 17 से ज्यादा तरह की पोजीशन होता है जिसमे सिपाही से लेकर जनरल तक आते है. ऐसे में जैसा जिनका पोजीशन उसी हिसाब से सैलरी मिलता है. यहाँ पर संक्षेप में जानते है फिर हम एक एक पोजीशन के बारे में विस्तार से जानेंगे की उनका पावर कितना होता है और सरकार की तरफ से कितना वेतन और सुविधा मिलता है.  आर्मी में बहुत से सारे पोस्ट है जिसमे कुछ हाई रैंक पोस्ट होता है और कुछ लोअर रैंक पोस्ट है. ऐसे में आर्मी में काम करने वाले कुछ पदों के सैलरी यहाँ बताया है. जिसके बारे में आप सर्च कर रहे है की आर्मी की सैलरी कितनी होती है? उसका जवाब यहाँ पर मिल जायेगा और फिर आप जिस पोस्ट के अप्लाई कर रहे है उसके वेतन और मिलने वाले सुविधाएं मिल जाते है.

Indian Army Salary

देश में आर्मी को सबसे ज्यादा मेहनत करना पड़ता है क्योकि यह जमीन पर लड़ाई करती है और देश की सुरक्षा में किसी भी मौसम में बॉर्डर पर तैनात रहती है. ताकि देश के बाकि के लोग चैन से सो सके – ऐसे में कई तो ऐसे है जो की शहीद भी हो जाते है. ऐसे में सभी जानना चाहिए की हमारे देश किए सरकार आर्मी को किस तरह की सुविधाएं और वेतन देती है.

पद (Post) मूल वेतन (Basic Salary) सैन्य सेवा वेतन
सिपाही 5200
नायक 25500 5200
हवलदार 29200 5200
नायब सूबेदार 35400 5200
सूबेदार 44900 5200
सूबेदार मेजर 47600 5200
लेफ्टिनेंट 56,100 से 1,77,500 15500
कैप्टेन 61,300 से 1,93,900 15500
मेजर 69,400 से 2,07,200 15500
लेफ्टिनेंट कर्नल 1,21,200 से 2,12,400 15500
कर्नल 1,30,600 से 2,15,900 15500

आर्मी के पोस्ट के नाम और वेतन

जैसा की अपने टेबल में देखा की सभी टॉप आर्मी पोस्ट और उनके वेतन के बारे में बताया गया है. यहाँ पर उस पोस्ट पर नौकरी करने वाले लोगो को किस तरह की सुविधाएं मिलती है. इसके बारे में बताया है थोड़ा विस्तार से जैसे की घर, गाड़ी और दूसरे भत्ते जो भारतीय सेना में सेवा देने के लिए मिलता है. सेना के सभी महत्वपूर्ण पदों का नाम यहाँ लिस्ट में दिया गया है.

Indian Army Photo

आर्मी सिपाही की सैलरी – सिपाही सेना का सबसे छोटा पद होता है इन जवानो की डायरेक्ट भर्ती की जाती है. इन लोगो को बेसिक सैलरी 5200 रुपये प्रति महीने होता है और साथ में 26,900 रुपये हर महीने भत्ते के रूप में मिलते है. जिसमे खाने, रहने और दूसरी सुविधाएं शामिल होता है और इसके साथ सरकार की तरह से इन्हे लोन और बच्चो की पढ़ाई के लिए छूट मिलता है. अलाउंसेस को मिला लिया जाए तो सेना की सिपाही है की सैलरी 26,900 रुपये से ऊपर हो जाता है.

नायक की सैलरी – सेना नायक की सैलरी 25,500 प्रति महीना होता है और सैन्य सेवा के लिए 5200 रुपये प्रति महीना मिलता है. जो की कुल मिलकर 30,700 रुपये प्रति महीने होता है और साथ में इन्हे रहना, खाना, ट्रेवल और डेली अलाउंसेस भी मिलता है. ये सारी सुविधाएं सैलरी से अलग होती है और नायक को भी लोन और बच्चों की पढ़ाई में छूट मिलता है.

हवलदार की सैलरी – सेना में हवलदार को हर महीने 29,200 रुपये बेसिक सैलरी मिलता है और सैन्य सेवा के रूप 5200 रुपये प्रति महीना सैलरी मिलता है. जो की कुल मिलाकर हवलदार 34,400 रुपये प्रति महीना हो जाता है. इसके साथ डेली अलाउंसेस और अन्य भत्ते मिलाकर सैलरी हर महीने इससे थोड़ा बढ़ सकता है और साथ में जो सरकार की तरफ से छूट मिल जाता है बहुत सारे कामो में,

नायब सूबेदार की सैलरी – जूनियर कमिशंड ऑफिसर की तरह सूबेदार रैंक्स के ऑफिसर को भी अलग-अलग अलाउंस मिलते हैं. सूबेदार को 35,400 रुपये प्रति महीने बेसिक सैलरी होता है और सैन्य सेवा के रूप 5200 रुपये मिलता है. जो की कुल मिलाकर 40,600 रुपये प्रति महीने हो जाता है इसके साथ सरकार की तरह से भत्ते मिलते है. सूबेदार अफसर रैंक में आ जाते है इसलिए इन्हे चलने के लिए गाड़ी और घर भी मिलता है.

सूबेदार मेजर की सैलरी – यह एक अफसर रैंक होता है और सूबेदार मेजर को बेसिक सैलरी 47,600 रुपये प्रति महीने बेसिक सैलरी मिलता है और 5200 रुपये महीने मिलता है. जो की सूबेदार मेजर की सैलरी 52,800 रुपये प्रति महीने हो जाता है. इसके साथ इनको रहने के लिए घर, नौकर, गाड़ी मिलता है और साथ में सरकार की तरह से बहुत से भत्ते मिलते है.

लेफ्टिनेंट की सैलरी – लेफ्टिनेंट एक बड़ा पोस्ट होता है भारतीय सेना में और इसलिए सरकार इनके काम के हिसाब से सैलरी भी देता है. आज के समय में इंडियन आर्मी लेफ्टिनेंट को हर महीने 56,100 से 1,77,500 रुपये सैलरी मिलता है और साथ में सैन्य सेवा के लिए हर महीने 15,500 रुपये मिलते है. इसके साथ लेफ्टिनेंट को रहने के लिए घर, गाड़ी और बहुत सारे भत्ते दिए जाते है. ताकि वह देश की सेवा के साथ साथ घर की सेवा भी अच्छे से कर पाए.

कैप्टेन की सैलरी – कैप्टेन इंडिया आर्मी में एक अफसर रैंक का पोस्ट है और इनके ऊपर बहुत सारी जिम्मेदारियां होता है. ऐसे में सरकार भी इन्हे इनके काम के अनुरूप सैलरी देती है. भारतीय सेना के कैप्टन की बेसिक सैलरी 61,300 से 1,93,900 रुपये प्रति महीने होती है. इसके साथ इन्हे सैन्य सेवा के लिए मासिक अनुदान मिलता है. भत्ते मिलते है. रहने के लिए एक प्राइवेट घर मिलता है और बच्चो को बढ़ाने के लिए सैनिक स्कूल मिलते है.

मेजर की सैलरी – मेजर एक वरिष्ठ एक सैन्य अधिकारी रैंक है और यह कैप्टन से बड़ा पद होता है इंडिया सेना क्षेत्र में ऐसे में लोग जो की मेजर बनते है. उनका रुतबा बहुत होता है और कई लोग मानते है की यह एक IPS officer से कम नहीं होते है. मेजर को हर महीने बेसिक सैलरी के रूप में 69,400 से 2,07,200 रुपये मिलता है. इसके साथ सैन्य सेवा अनुदान, भत्ते, प्राइवेट घर, स्कूल और बहुत सारी सुविधाएं मिलती है जो को सेना में काम करने के लिए दिया जाता है.

लेफ्टिनेंट कर्नल  की सैलरी – यह मेजर से बड़ा पोस्ट होता हेयर लेफ्टिनेंट कर्नल को सरकार की तरफ से हर महीने 1,21,200 से 2,12,400 बेसिक सैलरी मिलता है. इसके साथ सैन्य सेवा के लिए 15,500 रुपये महीने और DA और अन्य भत्ते दिए जाते है. लेफ्टिनेंट कर्नल को रहने के लिए फ्लैट, चलने के लिए गाड़ी, नौकर, साथ में सिक्योरिटी के लिए सिपाही भी दिए जाते है.

कर्नल  की सैलरी – कर्नल एक सीनियर मिलिटरी अफसर होते है और ये पद इंडिया में नहीं कई सारे देशो में होता है. इनको हर महीने 1,30,600 से 2,15,900 रुपये बेसिक सैलरी मिलता है. इनके साथ सैन्य सेवा के लिए 15,500 रुपये हर महीने अनुदान मिलता है सरकार कर्नल को बहुत सारे भत्ते और सुविधाएं देती है जिसमे घर, गाड़ी, सिक्योरिटी, लोन, स्कूल और बहुत कुछ शामिल है.

इसके बाद आर्मी में सभी पद बड़े होते है जिनका सैलरी निर्धारित नहीं होता है ये उनके काम और पोजीशन के लिए हिसाब से दिया जाता है. ऐसे में आप कोई फिक्स सैलरी आर्मी के बड़े अफसर जैसे जनरल और लेफ्टिनेंट जनरल+एचजी स्केल के लिए तय नहीं कर सकते है. ये सारी जानकारी उनके लिए है जो की सेना में जाना चाहते है और यही पर डायरेक्ट भर्ती होता है सेना में जो भी ऊपर बताये गए है.

दोस्तों उम्मीद है आपको ये जानकारी पसंद आया हो और आपको भारतीय आर्मी में कितना सैलरी मिलता है. इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गया हो यहाँ पर सिपाही से लेकर कर्नल तक जवानो के सैलरी के बारे में यहाँ पर बताया गया है. हो सकता है किसी की सैलरी कम या ज्यादा हो क्योकि सैलरी कम या ज्यादा हो सकता है क्योकि यह एक इन्फॉर्मेशनल एस्टीमेट डाटा है इनके बारे में, अगर आपका कोई सवाल है तो कमेंट में इसके बारे में जानकारी आप हमें दे सकते है.

100 लोगो ने शेयर किया

Leave a Comment