Christmas Day (बड़ा दिन) क्यों मनाया जाता है?

साल के अंत में मनाये जाने वाला सबसे बड़ा त्यौहार है Christmas और यह America, UK जैसे ईसाई बहुल्य देशो में बहुत धूम-धाम से मनाया जाता है. ईसाइयों के लिए यह सबसे बड़ा त्यौहार है. लेकिन क्या आप जानते है क्रिसमस क्यों मनाया जाता है? इसकी शुरुआत कहाँ से हुआ.

क्रिसमस डे जो की हर साल 25 दिसंबर को मनाया जाता है इस दिन पूरी दुनिया में अवकाश होता है और जितने भी ईसाई बाहुल्य देश है वहा पर तो 7 वीक से लेकर 15 दिन का अवकाश होता है क्रिसमस में स्कूल, कारखाने सब बंद होते है.

क्रिसमस डे

यीशु के जन्म की खुशी में हर साल 25 दिसंबर को क्रिसमस डे मनाया जाता है और इसी दिन से 12 दिन के त्यौहार क्रिसमसटाइड की षुरूआर होती है जो आने वाले अगले month जनवरी तक चलता है. क्रिसमस का त्यौहार मुख्य रूप से ईसाई समुदाय के लोग मानते है लेकिन आज कल यह गैर ईसाई धर्मो के लोगो द्वारा भी मनाया जाता है.

क्रिसमस डे तो लगभग सभी देशो में 25 दिसंबर को ही मनाया जाता है लेकिन कुछ देश ऐसे है जो की अलग-अलग पुराने कैलेंडर के आधार पर 25 दिसंबर से कुछ समय आगे या पीछे भी मानते है. जैसे की जर्मनी में 24 दिसंबर से ही क्रिसमस शुरू हो जाता है राष्ट्रमंडल देशो में 26 दिसंबर को बॉक्सिंग डे के रूप में मनाया जाता है.

कैथोलिक देश जो की आर्मीनियाई अपोस्टोलिक चर्च से जुड़े है वहा पर 6 जनवरी को क्रिसमस मनाया है. ऐसे पूरे विश्व में लोगो की अलग-अलग मान्यताये क्रिसमस डे को लेकर. क्रिसमस डे की शुरुतात होता है चर्च के प्राथना से सभी लोग को ईसा मसीह में विश्वास रखते है वह सभी क्रिसमस डे के दिन सबसे पहले चर्च जाते है और प्राथना करते है फिर शुरू होता है शाम के पार्टी के लिए प्रबंधन

सांता क्लॉस

Santa

क्रिसमस डे के दिन सभी को इन्ही का इंतजार रहता है सांता क्लॉज़ और आज दुनियाभर में अगर क्रिसमस इतना पॉपुलर है तो उसकी वजह है सांता क्लॉज़ और इस सबसे पॉपुलर सांता क्लॉज़ छवि को एक जर्मन मूल निवासी अमेरिकी कार्टूनिस्ट थॉमस नस्ट ने बनाया था और ये हम सभी जानते है क्रिसमस का अनुल्य हिस्सा है सांता क्लॉज़.

सांता क्लॉज़ सभी के लिए उपहार लाते है और यीशु के सबसे चहेते है जो की रेन्डियर की सवारी करते है और क्रिसमस के दिन पूरी दुनिया में गिफ्ट देने का काम करते है और छोटे बच्चे इन्हे पत्र लिखते है और उनसे उपहार मांगते है.

क्रिसमस का पेड़

Christmas tree

क्रिसमस के दिन अपने देखा होगा हर एक सजावट से भरा हुआ पेड़ देखने को मिलता है जो हर घर में, हर कंपनी में आपको देखने को मिल जायेगा यह भी क्रिसमस का अभिन्न हिस्सा है. इस दिन क्रिसमस ट्री को लाइट, सजावटों सजाया जाता है और इसे प्रतिक मना जाता है ईसा मसीह का और माना जाता है इससे घर में सुख-समृधि का सूचक है.

Christmas Day (बड़ा दिन) क्यों मनाया जाता है?

क्रिसमस डे मनाया जाता है प्रभु युशु के पुर्नजन्म की याद में माना जाता है इसी दिन ईसा मसीह ने फिर से एक हर जन्म लिया था और सबसे पहले यह परम्परा चर्च से शुरू हुआ. ईसा मसीह की याद में 25 दिसंबर को चर्च को खूब सजाया जाता था और आस-पास रहने वाले लोगो को चर्च की तरह से उपहार दिए जाते थे और यह 25 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है इसका कोई सत्यापित प्रमाण नहीं है और कोई नहीं जाता है की ईसा मसीह ने दोबारा जन्म कब लिया था.

चुकी दिसंबर महीने का 25वा दिन वैसे भी बहुत खाश होता है इस दिन से रात्रि छोटी और दिन बड़ा होने लगता है, उत्तरी गोलार्द्ध में फैसला और कृषि कार्य इसी दिन को पूरा हो जाता है बहुत से खाश देवी-देवताये है जिनका जन्म 25 दिसंबर को माना जाता है इसमे प्रमुख है इश्टर, बब्य्लोनियन गोद्देस्स ऑफ़ फेर्तिलिटी, लव, एंड वार, सोल इन्विक्टुस एंड मिथ्रास.

  • क्रिसमस डे मनाया जाता है प्रभु ईसा मसीह के जन्म दिन के रूप में मनाया जाता है.
  • सबसे पहले क्रिसमस December 25, AD 336 को रोम में मनाया गया था.
  • यह ईसाइ धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार है और इसी शुआता 10 दिसंबर हो जाता है और यह 7 जनवरी तक चलता है.
  • इस त्यौहार में लोग एक दूसरे को उपहार देते है, घर को सजाते है और सांता क्लॉज़ को पत्र लिखकर अपनी विश मंगाते है.
  • इस पूरे महीने ईसा मसीह की कहानिया और नाटक चारों तरफ आपको देखने को मिल जायेंगे.

क्रिसमस डे की शुरुआत कब हुआ?

पूरी तरह सच्चाई कही पर नहीं है की क्रिसमस की शुरुआत कब से हुआ लेकिन ज्यादातर देखा गया है ईसाई ग्रथों में December 25, AD 336 वह दिन था जिस दिन पहली बार सार्वजानिक रूप से क्रिसमस का त्यौहार मनाया गया इससे पहले का कोई भी प्रमाण नही है और December 25, AD 336 को सबसे ज्यादा प्रमाण मिलते है.

बहुत सारे ईसाई धर्मगुरुओ का मानना है इससे पहले से ही क्रिसमस डे मनाया जाता था लेकिन इसका कोई प्रमाण नहीं है और एक मत और भी है सबसे पहले इसकी शुरुआत चर्च से किया गया था फिर रोम के राजा ने इस सार्वजनिक मानाने का आर्डर पास किया लेकिन ये सभी बस लोगो द्वारा कही हुए बातें है जो प्रमाण में है वो है की December 25, AD 336 से क्रिसमस डे की शुरुआत हुयी.

इन्हे भी देखे,

Best Merry Christmas Wishes in Hindi

चांद ने अपनी चांदनी बिखेरी है,
और तारों ने आसमां को सजाया है,
लेकर तौफा अमन और प्यार का,
देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है.

सबके दिलों में हो सबके लिए प्यार,
आने वाला हर दिन लाए खुशियों का त्यौहार,
इस उम्मीद के साथ आओ भूलके सारे गम,
क्रिसमस में हम सब करें वेल-कम !

दोस्तों से हर लम्हे में क्रिसमस है,
दोस्ती की ये दुनिया दीवानी है,
दोस्तों के बिना जिंदगी बेकार है,
दोस्तों से ही तो जिंदगी में बहार है,
Merry Christmas 2020

क्रिसमस 2020 आये बनके उजाला,
खुल जाए किस्मत का ताला हमेशा,
आप पर रहे मेहरबान ऊपर वाला ,
यही दुआ करते हैं आपका यह चाहने वाला!

क्रिसमस प्यार है, क्रिसमस ख़ुशी है,
क्रिसमस उत्साह है, क्रिसमस नया उमंग है,
आप सभी को क्रिसमस 2020 की शुभकामनायें

दोस्तों उम्मीद है आपको समझ में आ गया हो की क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता है और इसकी शुरुआत कब हुयी? इस साल क्रिसमस डे आने वाला है और आप अपने दोस्तों, फॅमिली को उपहार दे सकते है और इसके बारे में अगर आप कुछ सुझाव देना चाहते है तो आप कमेंट में जरूर बताये.

Leave a Comment