CIF Number क्या होता है? सभी Banks का CIF

हर उस व्यक्ति जिसके पास bank account है उसे एक CIF number मिलता है. लेकिन बहुत लोग ऐसे है जिनको नहीं पता है की CIF number क्या होता है? और इसका Full form क्या होगा? ऐसे में अगर आपको banking terminology और इस important factor के बारे में जानकारी हासिल करना है. तो आप बिलकुल सही जगह है. अगर बेहतर बैंकिंग सुविधाओं का इस्तेमाल करना चाहते है तो आपको इसके बारे में जानकारी होना चाहिए और यहाँ पर विस्तार से जानकारी देंगे की आप कैसे पता कर सकते है.

अगर अपने अभी तक CIF number नहीं देखा है तो अपने बैंक का पासबुक ओपन करे. उस पर सबसे पहले वाले page पर दिया होगा, देखने से बैंक अकाउंट नंबर की तरह होता है. लेकिन इसका काम banking में पैसे निकलने के लिए नहीं बल्कि identification के लिए होता है.

बहुत सारे लोग ऐसे है जिनको आज तक नहीं पता होगा की CIF number क्या होता है? और यह हमारे अकाउंट के साथ क्यों issue किया जाता है? क्योकि नार्मल banking काम जैसे की deposit और withdrawal करने के लिए इसका कोई काम नहीं है. ऐसे में सोचा क्योकि इसके full form और meaning के बारे में बताया जाये.

CIF Number क्या होता है?

CIF का full form – Customer Information File (ग्राहक सूचना फ़ाइल) होता है. इसके माध्यम से banks अपने ग्राहक के बारे में जानकारी जमा और हासिल करते है.

जब भी कोई ग्राहक खाता खोलता है तो उसके bank account number के लिए एक unique CIF number भी दिया जाता है. यह बैंक और कस्टमर दोनों के पास होता है. किसी भी बैंक का अकाउंट है तो उसके पास आपका CIF नंबर जरूर दिया होगा आप पासबुक के पहले पेज पर देख सकते है.

CIF number में किसी bank account holder के बारे में जानकारी जमा किया जाता है. इसमें व्यक्ति का नाम, उम्र, फोटो, एड्रेस, बैंकिंग डिटेल, नॉमिनेशन डिटेल और दूसरे जरुरी इनफार्मेशन होते है. बैंक कर्मचारी ग्राहक के CIF numbers के माध्यम से उसके बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लेते है.

CIF नंबर के दूसरे नाम

चुकी यह एक identification number है जिससे ग्राहक के बारे में जानकारी हासिल होता है. इसलिए banks अपने हिसाब से इसका नाम इस्तेमाल करते है, India के सबसे famous bank SBI में इसे CIF number के नाम से जाना जाता है. इस लिया यह code सबको इसी नाम से पता है लेकिन इसके और भी दूसरे नाम है.

  • CRN (customer relationship number)
  • Customer ID

HDFC, ICICI जैसे corporate banks इसे बस customer ID कहते है. जबकि Kotak bank में इसे CRN कहा जाता है और बाकि के banks CIF नाम से ही इसका इस्तेमाल करते है. नाम भले ही अलग हो लेकिन तीनो का काम एक है और इससे ग्राहक के बारे में जानकारी मिलता है.

किसी भी Bank CIF Number कैसे पता करे?

SBI CIF Number के बारे में बहुत सारे लोग जानते है लेकिन इसी तरह और भी बहुत से banks है जहा पर इसका इस्तेमाल होता है. ऐसे में अगर जानना है की आप के बैंक अकाउंट का CIF number क्या है तो यह आपको passbook पर मिल जायेगा जहा पर सारे bank details लिखे होते है. जैसे की account number, name वही पर यह भी लिखा होता है और जैसा की हमने ऊपर बताया है कुछ जगह यह customer ID या CRN नाम से भी होगा.

CIF Number on passbook

अगर ग्राहक अपने अकाउंट का mini statement भी निकालते है तो उसपर भी Customer Information File डिटेल लिखा होता है. वहा से भी आप पता कर सकते है आपके अकाउंट का नंबर क्या है? इसके साथ Net banking का इस्तेमाल करते है तो अकाउंट के लॉगिन करने के बाद आप account summary में अपने बैंक अकाउंट का CIF देख सकते है. यहाँ से भी आपको पता लग जायेगा.

CIF Number on net banking

CIF Numbers क्यों जरुरी है?

ग्राहक और बैंक दोनों के लिए ये बहुत जरुरी होता है. क्योकि ग्राहक को अगर अपने अकाउंट का नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग इनेबल करना है. तो उसके लिए CIF numbers पूछा जाता है. इसी तरह बैंक के लिए भी यह जरुरी होता है क्योकि एक ग्राहक, एक बैंक में एक से ज्यादा अकाउंट ओपन कर सकता है. ऐसे में अकाउंट नंबर से ग्राहक के बारे में जानकारी नहीं हासिल किया जा सकता है.

ऐसे में ग्राहक के भले ही multiple bank accounts हो लेकिन उसका CIF number एक ही रहेगा एक बैंक के लिए, इससे बैंक को तुरंत जानकारी हासिल कर लेता है की ग्राहक के पास कितने accounts है और किस अकाउंट में कितने ट्रांसक्शन हो रहे है.

इन बैंको में से किसी का अकाउंट चेक करना है?

सभी के Banks का CIF Numbers

cif number means और इसके full form के बारे में तो अपने जानकारी हासिल कर लिया अब अगर आपको SBI, Central bank of India, Indian bank, Allahabad bank या किस भी बैंक का कोड आप पासबुक और नेट बैंकिंग के माध्यम से पता कर सकते है. चुकी यह एक identification code है जिससे customers के बारे में जानकारी मिलता है.

तो ऐसे में किसी भी बैंक का रहे यह भी अकाउंट नंबर की तरह कॉमन होता है. इसके नाम अलग-अलग हो सकते है जिसके बारे में हमने ऊपर बताया है. हाँ, अगर आप केवल mobile banking का इस्तेमाल करते है जिनके साथ पासबुक नहीं होता है वह केवल डिजिटल तरीके से काम करते है. जैसे की DBS digi तो इसमें आपको MMID मिलता है. यहाँ भी CIF की तरह ही काम करता बस इसका नाम अलग है.

उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आया हो और आप इसके full form और मतलब के बारे में सभी जरुरी हासिल कर लिए हो अगर आप कोई सुझाव देना चाहते है या फिर बैंकिंग से जुड़े किसी सवाल के बारे में जानकारी चाहिए जैसे की SBI bank balance check कैसे करे तो इसके लिए हमें कमेंट में जानकारी दे सकते है.

100 लोगो ने शेयर किया

Leave a Comment