Goldfish का Scientific नाम क्या है?

आज की हम इस आर्टिकल में जानेंगे की Goldfish का Scientific नाम क्या है? ये कितने प्रकार के होते है? और आप कौन सी गोल्डफिश खरीद सकते है? गोल्डफिश जैसा की इसका नाम है यह एक मछली की प्रजाति है और अपने किसी ऑफिस यह घर के एक्वेरियम में इसे जरूर देखा होगा और आपको इसका कॉमन नाम पता होगा। लेकिन जब बात आती है Goldfish ka Scientific Naam kya hai? के नाम तो शायद ही आपको पता हो.

Fish के scientific name को कौन याद रखता है और वैसे भी साइंटिफिक नाम इतने बड़े होते है की उन्हें स्कूल और काम के लिए याद रखा जाता है. इसलिए हमने यहाँ पर इस सुनहरी मछली का वैज्ञानिक नाम बताया है. जिसे बहुत बार स्कूल एग्जाम में पुछा जाता है क्योकि Goldfish खाने वाली नहीं सजाने वाली मछली है और यही इसको दूसरे fishes से अलग बनाता है. इसलिए लोग अक्सर गूगल से पूछते है Goldfish का Scientific नाम क्या है?

Goldfish को हिंदी में “सुनहरी मछली” कहाँ जाता है और यह मछलियों की एक दुर्लभ प्रजाति है. जो की पूरी दुनिया में अलग अलग नाम और सब-प्रजातियों में पायी जाते है. हम इसमें से हर के गोल्डफिश के नाम और स्थिति के बारे में यहाँ पर विस्तार से जानकारी हासिल करेंगे.

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? Goldfish ka Scientific Naam kya hai?

Goldfish का scientific नाम होता है Carassius auratus और अगर इसे हिंदी में जाने तो सुनहरी मछली का वैज्ञानिक नाम होता है करसियस औराटुस, यह मछली की एक अनोखी प्रजाति है. जो की पानी में सुनहरे रंग जैसा चमकती है और यही कारण है लोग इसे एक्वेरियम में रखते है एक सजावट की तरह. इसे पानी में देख कर आसानी से पहचान सकते है क्योकि यह छोटी और चमकदार होती है.

मछलियों की कार्प (Carp) फॅमिली से गोल्डफिश का नाता जुड़ा है और यह इसी की एक प्रजाति है. यह एक पालतू मछली है जिसे most popular aquarium fish का ख़िताब मिल चूका है. बहुत सारे जगह पर लोग इसे  Golden crucian carp के नाम से जानते है और इसका इतिहास चीन के साथ जुड़ा है जो की 1700 साल से भी ज्यादा पुराना है.

सुनहरी मछली की अलग अलग नस्ले शरीर के आकार, पंखों के विन्यास और रंग में बहुत अलग होती हैं. सफेद, पीले, नारंगी, लाल, भूरे और काले रंग के बहुत से ऐसी मछलियों के बारे में अभी तक जानकारी लगाया जा चूका है.

गोल्डफिश (Goldfish) का वर्गीकरण

साधारण नाम गोल्ड फिश
गोल्डफिश का वैज्ञानिक नाम (Scientific Name) कैरासियस औराटस
लैटिन नाम कैरासियस गिबेलियो फॉर्मा ऑराटस
हिंदी नाम सुनहरी मछली
अन्य नाम गोल्डन क्रूसियन कार्प
निवाश स्थान मीठा पानी (फ्रेशवाटर )
वर्ग मछली
उम्र 5 से 10 साल
आकार 40 सेंटीमीटर तक
भोजन शैवाल, कीट, लार्वा, आदि.
मूल श्रोत चीन
सम्भोग का समय अप्रैल-मई

Goldfish कहाँ से उत्पन्न हुई है?

Goldfish का History बहुत पुराना है और ऐसा माना जाता है हज़ारो साल पहले सुनहरी मछली की उत्पत्ति चीन देश से हुयी, जिन साम्राज्य में (266–420) इस प्रमाण मिलते है. चीन के ही जिंहुआन उस समय जब एक पर्वत पर पहुंचे तो उन्होंने देखा की एक झील जो की सुनहरी मछलियों से भरी पड़ी है. लाल चमड़ी वाला क्रूसियन मछली को सबसे पहले देखा गया और उनकी की प्रजाति गोल्डफिश उत्पन्न हुयी जो की सनहरे रंग की होती है.

सांग साम्राज्य में उस समय के राजा ने रेड और गोल्ड कलर वाली मछलियों को राजमहल में तालाब बनाकर इक्क्ठा किया और वही से यह सजावट के लिए इस्तेमाल की जाने लगी. मिंग साम्राज्य ने इन्हे पालतू बनाया और इनका सबसे बड़ा योगदान माना जाता है सुनहरी मछलियों के संरक्षण और प्रजनन में और फिर 1603, में पहली बार गोल्डफिश को जापान के सामने रखा गया. जापान में एक ही Scientific name वाली कई रंग की Goldfish की उत्पत्ति हुयी फिर द्वितीय विश्व युद्ध के समय इनका प्रजनन और संरक्षण ताइवान में तेजी के साथ बढ़ा. यहाँ पर कई नहीं प्रजातियों का विकास हुआ और इन्हे एक व्यापार में लगाया है और फिर ये पूरी दुनिया में एक पालतू मछली के रूप में जानी जाने लगी.

Goldfish को 17वी शताब्दी में यूनाइटेड किंगडम जो की उस समय का सबसे बड़ा साम्राज्य था उसे के बाद 18वी शताब्दी तक यह पूरे यूरोप में एक पालतू fish की तरह इस्तेमाल में लायी जाने लगी और समय आया 19वी शताब्दी एक देश जो की सबसे आगे निकल चूका था अमेरिका उसको पहली बार जापान ने भेट के रूप में सुनहरी मछली दिया और वही पर इसके बारे में रिसर्च हुआ अमेरिका में ही पता चला की Goldfish का साइंटिफिक नाम क्या है? और इसके बहुत से उप-प्रजाति खोजे गए और उत्पन्न किये गए.

Goldfish का आकार कैसा होता है?

हमने जान लिया की गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? और यह कहाँ से पायी जाने लगी अब बारी है. Goldfish का आकर बहुत छोटा होता है इसलिए यह एक्वैरियम मछली के रूप में लोकप्रिय है. मछलियों का अकार वैसे में भी तय होता है की वह किस जगह पर रहती है. अगर गोल्डफिश को एक छोटे से एक्वैरियम में रखा गया है की इनकी लम्बाई 2.5 सेंटीमीटर से लेकर 5 सेंटीमीटर तक होता है और अगर इन्हे बड़े एक्वैरियम में रखा जाये तो इनका साइज 15 सेंटीमीटर तक हो जाता है. एक सुनहरी मछली ज्यादा से ज्यादा 48 सेंटीमीटर की हो सकती है.

Goldfish वजन कितना होता है?

चुकी यह साइज में बहुत छोटी होती है इसलिए इनका वजह बहुत कम होता है. एक गोल्डफिश बस कुछ ग्राम की होती है. लेकिन इंग्लैंड में एक सुनहरी फिश पायी गयी थी जिसका वजन 2 pound यानि करीब 910 ग्राम का था और यह आज तक की सबसे वजनी गोल्डफिश मानी जाती है. लेकिन Goldfish average weight एक पौंड से कम का होता है और ये निर्भर करता है की वह किस तरह के वातावरण में रह रही है.Goldfish कैसे वातावरण में रहती है?

Goldfish के लिए खाने की मात्रा

गोल्डफिश ताज़े पानी की मछली है और साइज में बहुत छोटी होती है. इसलिए इन्हे कम मात्रा में जल्दी जल्दी खाना चाहिए होता है. लेकिन इनको कुछ भी नहीं खिला सकते है इससे इनकी साइज बढ़ जायेगा या फिर इनको कोई बीमारी हो सकता है. एक सुनहरे मछली के लिए आपको अच्छा डाइट देना होता है जो की ऑनलाइन Amazon जैसे वेबसाइट से मिल जाते है. आप सर्च करेंगे Goldfish food तो आपको इनके प्रजाति के हिसाब से खाना मिल जाता है और वहा पर निर्देश दिए होते है की आप इन्हे कैसे खिला सकते है.

गोल्डफिश कितने प्रकार की होती है? (Types of Goldfish in Hindi)

Goldfish का scientific naam तो एक ही है लेकिन ये बहुत से प्रकार की होती है. इनकी पूरी दुनिया में बहुत सारी varieties है. जो की अलग साइज और कलर की होती है. लेकिन सभी एक पालतू मछली की तरह इस्तेमाल में लायी जाते है. अभी तक अपने जानकारी हासिल किया की गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? आईये अब जानते है की यह कितने प्रकार की होती है.

 साधारण सुनहरी मछली (Common Goldfish)

यह Mother Goldfish है इसी से बाकि के सभी varieties को उत्पन्न किया गया है और इसे एक और नाम feeder goldfish से भी जाना जाता है. यह मुख्यतः लाल रंग सुनहरे रंग की होती है जिसके छोटे छोटे पंख, छोटा शरीर का आकर और छोटी सी पूँछ होती है. लाल के साथ ये पिले, नीले-भूरे, नारंगी, सफ़ेद, और ब्राउन रंग की भी होती है. इनमे सबसे कॉमन वैरिटी है चमकीला नारंगी रंग को की सबसे ज्यादा देखा जाता है. यहाँ पर कॉमन गोल्डफिश की इमेज में आप देख सकते है.

Common goldfish

कॉमेट गोल्डफिश (Comet Goldfish)

कॉमेट गोल्डफिश कई सारे रंगो के साथ होती है. इनके शरीर पर आपको कई सारे अलग अलग रंग नज़ार आएंगे और कॉमेट गोल्डफिश आकर में थोड़ी लम्बी होती है इनकी पूछे दो भागो में बटी होती है जो की शरीर का सबसे लम्बा हिस्सा होता है. कॉमेट फिश सबसे ज्यादा यूनाइटेड स्टेट ऑफ़ अमेरिका में पायी जाती है और इन्हे वहा ले कॉमन वैरिटी की तरह इस्तेमाल किया जाता है. कॉमेट सुनहरी मछली का आकर साइज में 30-35 सेंटीमीटर होता है और यह बड़े अकार के टैंक में रहना पसंद करती है जिसमे कम से कम 150-200 लीटर प्रति मछली के हिसाब से पानी हो.

Comet goldfish

शुबंकिन गोल्डफिश (Shubunkin Goldfish)

शुबंकिन गोल्डफिश का शरीर लम्बा और एक पूछ होता है और इनके शरीर पर बहुत रंग के पैटर्न बने होते है जिन्हे calico नाम से जाना जाता है. बाकि के गोल्डफिश की तरह इनका भी पतला और लम्बा शरीर होता है, 2 पंख होते है और पतली लम्बी पूछ होती है. शुबंकिन मछली की प्रजाति सबसे ज्यादा इंग्लैंड के लंदन शहर में पाया जाया है और वहां के लोग इसे पालतू बनाना पसंद करते है.

Shubunkin goldfish

अमेरिकी शुबंकिन (American Shubunkin)

अमेरिका और जापान में शुबंकिन गोल्डफिश थोड़ा अलग पाए जाते है इसलिए इनका नाम भी अमेरिकन शुबंकिन और जापानीज शुबंकिन रखा गया है. इनका रंग धूमकेतु जैसा होता है और शरीर पतला और कॉमन से थोड़ा लम्बा होता है. इनकी लम्बाई 20 से 40 सेंटीमीटर तक बढ़ती है और इनको रखने के लिए कम से कम 100 लीटर वाला एक्वैरियम चाहिए होता है. इनकी पूछ शरीर से एक निकली होती है और अंत में जाकर दो अलग हिस्सों में बात जाती है.

American Shubunkin goldfish

बबल आई गोल्डफिश (Bubble Eye Goldfish)

बबल आई गोल्डफिश एक खूबसूरत और दिखने सबसे अलग मछली है. इनके आंख के नीचे दो द्रव से भरी थैली होती है और इसी वजह से इनका नाम बबल आई पड़ गया है. यह 30 से 40 सेंटीमीटर लम्बी होती ही और इनके पूरे शरीर पर एक गोल्डन रंग होता है जो की बीच में बहुत चमकीला होता है. ये बहुत तेजी के साथ तैर नहीं सकती की इस वजह से इन्हे दूसरे मछलियों के साथ बड़ा परेशानी होती है. बबल आई गोल्डफिश सबसे ज्यादा चीन में पायी जाती है.

Bubble Eye goldfish

फैंटेल गोल्डफिश (Fantail Goldfish)

फैंटेल गोल्डफिश एक ताजे पानी की मछली है इनका साइज अंडे के सामान होता है और ज्यादा से ज्यादा यह 15 से 20 सेंटीमीटर लम्बी होती है. इन्हे पंख और पूछ इनके शरीर के हिसाब से बड़े और पारदर्शी होते है. फैंटेल गोल्डफिश सुनहरे लाल रंग की होती है और इन्हे एक छोटे एक्वैरियम मे रखा जा सकता है. फैंटेल फिश पानी में सबसे ज्यादा चहल कदमी करती है इसलिए लोग इन्हे बेहद पसंद करते है.

Fantail goldfish

ब्रिस्टल शुबंकिन (Bristol Shubunkin)

ब्रिस्टल शुबंकिन, शुबंकिन गोल्डफिश की एक उप प्रजाति है. लेकिन इनका पूछ और पंख दूसरे की तुलना में बहुत चौड़ा होता है और इनका कलर हमेशा कैलिको ही होता है. इनको रखने के लिए के बड़े साइज का एक्वैरियम चाहिए होता है जिसमे कम से कम 150 लीटर पानी हर एक मछली के लिए उपलब्ध हो.

Bristol goldfish

लॉयनहैड गोल्डफिश (Lionhead Goldfish)

लॉयनहैड गोल्डफिश एक नकाबपोश Varity की मछली है जिसका शरीर छोटा और चपटा होता है. इनके शरीर की सबसे खाश बात है इनका रंग जो की नारंगी और सफ़ेद को मिलकर बना होता है और मुँह शेरो के समान होता है. लॉयनहैड गोल्डफिश 15 सेंटीमीटर तक बढ़ सकती है. इनकी खोज सबसे पहले चीन में हुआ था फिर जापान में इन्हे फिर से उत्पन्न किया गया.

Lionhead goldfish

बटरफ्लाई टेलिस्कोप गोल्डफिश (Butterfly Telescope Goldfish)

बटरफ्लाई टेलिस्कोप गोल्डफिश यह टेलिस्कोप वैरिएंट की फिश है जो की देखने में एक बटरफ्लाई के समान होते है. इनका शरीर और पूछ एक साथ जुड़ा होता है और बहुत चौड़ा होता है. आगे का हिसाब पतला और दो पंख होते है. इनका रंग काले और पारदर्शी जैसा होता है और इन्हे देखने का सबसे अच्छा तरीका है की आप ऊपर से बटरफ्लाई टेलिस्कोप गोल्डफिश देखे तो आपको इनके रंग और साइज के बारे में अंदाजा होगा.

Butterfly Telescope goldfish

वीलटेल गोल्डफिश (Veiltail Goldfish)

वीलटेल गोल्डफिश का आकर गहरे और गोल रयुकिन के आकार का शरीर होता है. इनके पंख बहुत बड़े और चौड़े होते है. वीलटेल गोल्डफिश साइज में 20 से 30 सेंटीमीटर बढ़ सकती है और इन्हे रहने के लिए कम से कम 13 degree सेंटीग्रेड टेम्प्रेचर होना चाहिए पानी का और आपको इसके बारे में और एक बात जान लेनी चाहिए इनका पंख भले ही चौड़ा होता है लेकिन शरीर छोटा होने की वजह से यह अच्छे से तैर नहीं सकती है.

Veiltail goldfish

ऐग्ग-फिश गोल्डफिश (Egg-gish Goldfish)

ऐग्ग-फिश गोल्डफिश एक सुनहरी छोटी मछली है जो की देखने में काफी खूबसूरत और छोटे आकर की होती है. इनका शरीर अंडा अकार का होता है इसलिए इनका नाम एग-फिश होता है. इनका दो छोटा सा पंख होता है, और एक पूछ होती है जो एक साथ जुड़ी होती है. ऐग्ग-फिश के पूछ की लम्बाई इनके शरीर से थोड़ी बड़ी होती है.

Egg-gish goldfish

Goldfish के लिए एक्वेरियम का चुनाव कैसे करे?

Aquarium जिनसे हिंदी में कहाँ जाता है जलजीवशाला यह एक ट्रांसपेरेंट टैंक होता है. जिसमे पानी और साथ में इन सुनहरी मछलियों को रखा जाता है. यह टैंक आपकी आवश्यकता और गोल्डफिश के साइज के हिसाब से छोटा या बड़ा हो सकता है. अगर आप अपने लिए Aquarium खरीदना चाहते है तो सबसे पहले उनके लिए मछली का चुनाव कर ले की आप उसमे कौन सी गोल्डफिश को रखने वाले है.

जलजीवशाला

  • एंक्‍वेरियम मछलियों को एक आशियाना है और यह घर में एक सजावट की तरह इस्तेमाल किया जाता है. आज के समय में यह एक प्रीमियम चीज़ है इंडिया जैसे देश में आपको हर किसी के घर में एंक्‍वेरियम देखने को नहीं मिलेगा जो पैसे वाले लोग होते है वही रख पाते है.
  • हिंदी धर्म के ज्योतिष के हिसाब से मछलिया घर में लक्ष्मी लाती है इसलिए Aquarium रखना बहुत शुभ माना जाता है. लेकिन इनका प्राइज बहुत ज्यादा होता है इसलिए लोग खरीदने से कतराते है. अगर आप एक अच्छा Aquarium खरीदना चाहते है तो उसके लिए इन बातों का ध्यान रखे तभी सही चुनाव कर पाएंगे.
  • सबसे पहले आप ऑनलाइन या किसी Aquarium के दूकान पर जाकर देखे की उसमे क्या क्या इस्तेमाल किया जाता है. फिर आप उनका एक लिस्ट बनाये और अलग अलग उन सब चीज़ो को खोजे और ख़रीदे.
  • जो मछली Aquarium में रखना चाहते है उनके बारे में पूर्ण जानकारी रखे की उसकी प्रजाति क्या है? उस फिश का साइंटिफिक नाम क्या है? उसका साइज कितना बढ़ सकता है? और उसके लिए खाना क्या सही रहेगा.
  • एक बने बनाये Aquarium खरीदने से अच्छा है की आप स्क्रैच से उसे खुद बनाये है. इसके लिए Aquarium अलग से ख़रीदे, उसमे इस्तेमाल होने वाले समान अलग से ख़रीदे आपको सस्ता पड़ेगा.
  • पानी कितना लीटर आएगा और पानी के साथ Aquarium वजन कितना होगा ये जान ले और फिर आप उसी हिसाब से उसको रखने के लिए टेबल ख़रीदे.

Goldfish कैसे ख़रीदे?

हमने अभी तक जानकारी हासिल किया की गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? ये कितने प्रकार के होते है और इनको कहा रखा जाता है. अब बारी है की अगर आप अपने Aquarium के लिए गोल्डफिश खरीदना चाहते है तो आपको कहाँ से मिलेंगे। दोस्तों आज के समय में इस सवाल का जवाब बहुत आसान है और आप सभी जानते है.

आपको ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीको से हर एक प्रजाति की गोल्ड फिश मिल जाती है. आप Indiamart और Amazon जैसे वेबसाइट से पैर पीस या जोड़े के हिसाब से इन्हे खरीद सकते है. इनका प्राइस के वैरिटी और क्वांटिटी के हिसाब से तय किया जाता है आप एक बार जितना चाहे उतना आर्डर कर सकते है. इनके लिए हो सकता है आपको 100 रुपये से लेकर 300 रुपये हर के पीस के देने पड़े.

गोल्डफिश से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • गोल्डफिश का लैटिन नाम  कैरासियस गिबेलियो फॉर्मा ऑराटस है और इन्हे हिंदी में सुनहरी मछली के नाम से जाना जाता है. इनका साइंटिफिक नाम कैरासियस ऑराटस होता है.
  • ताजे पानी की यह मछली दुनियाभर में पालतू फिश की तरह पाली जाती है इसके रहने के लिए Aquarium की जरुरत होता है.
  • गोल्डफिश की पहले प्रजाति चीन में आज से 1700 साल पहले पाया गया था और यह फिर पूरी दुनिया में फ़ैल गया.
  • हिन्दू धर्म में घर में मछली का होना शुभ माना जाता है और ऐसा करने वाले घर में हमेशा समृद्धि रहती है. (जानिए अपना राशिफल )
  • गोल्डफिश एक ऐसी मछली है जो की सोते और जागते समय हमेशा अपनी आंखे खुली रखती है. इसे देखर कोई नहीं बता सकता है की ये सो रही है.
  • गोल्डफिश की अधिकतम लम्बाई 40 सेंटीमीटर तक बढ़ सकती है और इसका देखभाल अच्छे से किया जाए तो यह 10 से 15 साल तक जीवित रख सकती है. (क्या आप जानते क़ुतुब मीनार कितना ऊंचा है )
  • इस सुनहरे मछली की अधिक देखभाल करने की जरुरत होती है. यहाँ तक की आप इसे कुछ भी नहीं खिला सकते है इसके लिए खाना पहले से तय होता है आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीदना पड़ेगा.
  • हर मछली की प्रजति की तरह Goldfish भी सर्वाहारी होती है. यह छोटे छोटे कीड़े मकोड़े के साथ घास भी खा लेती है.
  • सुनहरी मछलियों को गुड लक माना जाता है और अगर यह घर में स्वथ्य है तो पूरा घर स्वथ्य होगा ऐसा माना जाता है.
  • यह पहली मछली है जो की आपको पीस के हिसाब से मिलती है. इनका प्राइस फिश वैरिटी में सबसे जायदा होता है.
  • इन फिश में सुनने और समझने की क्षमता होती है और ये उसी हिसाब से प्रकिया करती है जैसा की इनके आस पास मौहोल होता है.

Goldfish से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण सवाल

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है?

गोल्डफीश का साइंटिफिक नाम होता है नाम कैरासियस ऑराटस और ये कार्प फॅमिली की मछली होती है.

Goldfish को हिंदी में क्या कहा जाता है?

इनका हिंदी में नाम होता है “सुनहरी मछली”

Goldfish कितने समय तक जीवित रह सकती है?

Goldfish lifespan शीशे के जार में 5 साल तक होता है और अगर इन्हे खुले पानी में रखा जाए तो यह 8 से 10 साल तक जीवित रह सकती है.

Goldfish बिना भोजन के कब तक रह सकती है?

के बार एक गोल्ड फिश बिना पानी और खाने के 4 महीने से ज्यादा समय तक जीवित रह गयी थी और नार्मल तौर पर ये एक से दो सप्ताह बिना खाना पानी के रह सकती है.

Goldfish कहाँ पाई जाती है?

गोल्ड फिश सबसे ज्यादा चीन में पायी जाती है यहाँ पर आपको तालाब में भी ये देखने को मिल जाएँगी लेकिन पूरी दुनिया में इन्हे पाला जाता है. इस लिए आपको यह शीशे के जार में, बड़े Aquarium और मछली पालन केंद्र में देखने को मिल जाएँगी.

सुनहरी मछली क्या खाती है?

सुनहरी मछली सर्वाहारी होती है ये कीड़े, छोटी घास और शैवाल भी खा लेती है. लेकिन पालतू फिश को लोग दलिया, छोटे छोटे कीड़े खाने को देते है.

Gold Fish की देखभाल कैसे करें?

यह साइज में बहुत छोटी होती है और एक बार में कम खाना खा पाती है. पानी में हमेशा तैरते रखने की वजह से इन्हे भूख बहुत लगता है और इन्हे जल्दी जल्दी खाना देना होता है. साथ में इस बात पर ध्यान देना होता है कोई ऐसा चीज़ ये ना खा ले जिसकी वजह से यह बीमार हो जाए इससे यह पूरे पानी को ख़राब कर देंगी और बाकि की सारी फिश भी बीमार होकर मर जाएँगी.

दोस्तों हमने यहाँ पर बताया है गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? जिसे आप कहँ सकते है machhali ka vaigyanik naam हमने यहाँ पर जाना है. उम्मीद करते है ये जानकारी आपको पसंद आया हो और हमें विस्तारपूर्वक हर एक पहलु को ध्यान में रखते हुए इस आर्टिकल को लिखा है जिसमे गोल्डफिश के बारे में हर एक जानकारी आपको मिल जायेगा। अगर फिर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो इसके बारे में आप कमेंट करके जरूर बताये

100 लोगो ने शेयर किया

Leave a Comment