NCR Full Form in Hindi : NCR क्या हैं?

इस आर्टिकल में हम NCR Full Form के बारे में बात करने वाले है क्योकि यह एक मुख्य सवाल हो गया जनरल साइंस का और स्कूल में NCR के बारे में पूछा जाता है. अकसर आपने Delhi NCR का नाम एक साथ सुनते है, Delhi और New Delhi के बारे में सभी जानते है. लेकिन Delhi NCR full form क्या होता है? इसके बारे में बहुत कम लोग जानते है.

Delhi एनसीआर के बारे में बहुत सारे लोग नहीं जानते है इसका नाम क्यों ऐसे लिखा जाता है? और Delhi और Delhi NCR में क्या अंतर है? यहाँ तक जो की यहाँ पर रहते है उनको भी नहीं पता होता है की एनसीआर क्यों लिखा और कब लिखा जाता है दिल्ली के साथ. अगर आप भी नहीं जानते है तो यह आर्टिकल आपके लिए है और इसमें आपको पूरी जानकारी मिलेगा इसके बारे में,

Delhi NCR Full Form

NCR Full Form in Hindi (NCR का मतलब क्या है?)

NCR का full form होता है National Capital Region

इसे हिंदी में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र कहा जाता है. जैसा की इसका नाम है National Capital Region तो इसमें हमारे देश के कैपिटल Delhi के साथ-साथ इसके आस-पास के कुछ शहर भी इसके साथ जोड़ दिए गए है और सभी को मिलकर Delhi NCR बनाया गया है.

इसे आप एक तरीके का स्पेशल जोन मान सकते है जिस कुछ शहरों को एक साथ जोड़ कर बनाया गया है और इनमे बहुत से पब्लिक सुविधाएं एक जैसी कर दी गयी है. भारतीय संविधान 69th Amendment Act 1991 के तहत ये पॉसिबल हो पाया है और इसी एक्ट की वजह Delhi NCR के अंदर दूसरे पड़ोसी शहरों को जोड़ लिया जाता है.

Delhi NCR क्या है?

दिल्ली देश की राजधानी और जो भी शहर राजधानी क्षेत्र में आते है उन सभी को मिलाकर एक नाम दिया गया Delhi NCR. अगर कोई व्यक्ति कहता है की वह दिल्ली एनसीआर में रहता है तो इसका मतलब ये नहीं है की वह दिल्ली में रहता है वह व्यक्ति क्षेत्र में आने वाले किसी भी शहर में हो सकता है.

NCR full form से आपको आईडिया मिल गया की इसमें दिल्ली के साथ-साथ और भी शहर है. लेकिन आपके दिमाग में सवाल आ रहा होगा की क्या वे दूसरे राज्य के शहर या फिर दिल्ली के ही है? दिल्ली केवल एक शहर और देश की राजधानी है यहाँ पर पानी, बिजली, नौकरी, स्वाथ्य जैसे सुविधाएं उच्च स्तर की है और इसी वजह से उत्तर प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा के बहुत से शहरों को इसके साथ जोड़ा जा रहा है.

सन्न 1985 में एक प्लानिंग बोर्ड का गठन हुआ और इसे नाम दिया गया National Capital Territory (NCT) जिसका काम है नए इलाको, शहरों को एनसीआर के साथ जोड़ना और इसने अभी तक बहुत से जगहों को जोड़ भी दिया है.

दिल्ली को एनसीआर क्यों कहा जाता है?

NCR full form से समझ में आ गया होगा की इसका मतलब क्या होता है. दिल्ली को एनसीआर इसलिए कहा जाता है क्योकि इसमें पड़ोसी राज्यों के शहर को भी इसके साथ जोड़ दिया गया जिसमे उत्तर प्रदेश, हरयाणा और राजस्थान शामिल है. ऐसे में अगर इन्हे क्षेत्रो में कोई निवास करता है तो वह अक्सर पूछे जाने पर यही जवाब देता है की वह एनसीआर में रहता है.

Delhi NCR में आने वाले क्षेत्र

जैसा हम ऊपर बताया की दिल्ली एनसीआर में 3 राज्यों को शामिल किया गया है उत्तर प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा और अभी जितने भी क्षेत्र शामिल हो रहे है. ये सभी इन्ही तीन राज्य के है. बहुत बार ये सवाल भी पूछा जाता है की Delhi NCR में कितने जिले है? अभी तक कुल 24 जिले को इसमें शामिल किया जा चूका है. यहाँ पर हम अभी तक के शामिल सभी शहरों के बारे में जानकारी देते है जो की कैपिटल रीजन में हैं.

  • Delhi (दिल्ली)
  • Bharatpur (भरतपुर)
  • Hapur (हापुड़)
  • Muzaffarnagar (मुजफ्फरनगर)
  • Gurgaon (गुड़गांव)
  • Mewat (मेवात)
  • Alwar (अलवर)
  • Ghaziabad (गाजियाबाद)
  • Gautam Budh Nagar (गौतमबुद्ध नगर)
  • Bulandshahr (बुलंदशहर)
  • Sonipat (सोनीपत)
  • Shamli (शामली)
  • Rewari (रेवाड़ी)
  • Palwal (पलवल)
  • Mahendragarh (महैंन्द्रगढ़)
  • Baghpat (बागपत)
  • Faridabad (फरीदाबाद)
  • Rohtak (रोहतक)
  • Jhajjar (झाझर)
  • Panipat (पानीपत)
  • Bhiwani (भिवानी)
  • Jind (जिंद)
  • Karnal (करनाल)

कुल मिलाकर एनसीआर में 54,984km से ज्यादा जगह को इसमें शामिल किया जा चूका है जिसमे शामली और मुजफ्फरनगर सबसे जल्दी शामिल किये जाने वाले शहर है. दिल्ली एक आस पास के राज्य और सरकारों की सहमति से ये क्षेत्र और बढ़ाये जायेंगे और इन सभी क्षेत्रो में मेट्रो और बसों की सुविधा सभी आम जनता को मिल जायेगा जो की दिल्ली के लोगो को मिलता है. जो भी क्षेत्र एनसीआर में जुड़ता है उसका डेवलपमेंट में तेजी के साथ होता है ऐसे में हर एक शहर इसके साथ जुड़ना चाहते है. 

Delhi NCR के फ़ायदे

शायद आपके दिमाग में ख्याल आ रहा होगा की अगर कोई शहर दिल्ली एनसीआर में शामिल होता है तो वह दिल्ली के साथ जुड़ जाता है. लेकिन ऐसा नहीं हैं अगर कोई शहर एनसीआर से जुड़ता है तो केवल सुविधाएं जुड़ती है बाकि शहर उसी राज्य का रहता है जिसका पहले था.

  • दिल्ली एनसीआर से अगर कोई शहर जुड़ता है तो सबसे बड़ा फायदा उसके लिए होता है वह शहर जल्दी से जल्दी से दिल्ली मेट्रो के साथ जुड़ जाता है.
  • दिल्ली पब्लिक ट्रांसपोर्ट को उस शहर के साथ जोड़ दिया जाता है. जैसे की अगर नॉएडा में रहते है तो भी आपको दिल्ली बस में सफर का मौका मिल सकता है.
  • तमाम सुविधाएं जैसे की हेल्थ, एजुकेशन waste management जैसे सुविधाएं भी शहर को मिलने लगती है.
  • शहर का विकास दिल्ली के स्तर से होता है और शहर में बड़े-बड़े कम्पनीज अपना ऑफिस ओपन करते है इससे शहर में रोजगार के अवसर बढ़ते है.
  • जो भी जिले इससे जुड़ते है उनके गांव का विकास तेजी के साथ होता है और जमीनों के दाम में बढ़ोतरी होता है जिससे गांव वालों का फायदा होता है.

NCR का उद्देश्य

NCR बनाने के बहुत से उद्देश्य हैं और इसे बनाया इसी लिए गया है ताकि दिल्ली के आस-पास के इलाको का विकास किया जा सके और सभी शहरों को आपस में जोड़ दे ताकि आम जन को परेशानी ना हो.

जो शहर इसमें शामिल होते है उनका विकास NCR board का मुख्य उद्देश्य होता है और उस शहर में ट्रांसपोर्ट, एजुकेशन, हेल्थ, वाटर और रोजमर्रा की जरुरत और सुविधाओं को दिल्ली जैसा बनाया जा सके. जैसे की शहरों को विकास के लिए मेट्रो सुविधाएं दी गयी है, लोगो सस्ते कीमत पर इलेक्ट्रिसिटी, पब्लिक ट्रांसपोर्ट मुहयिया कराया जाता है. पूरे क्षेत्र के लिए एक डेवलपमेंट पैकेज लांच किया जाता है जो पूरे Delhi NCR का विकास करने के लिए खर्च किया जाता है.

NCR Regional Planning

National Capital Region Planning Board (NCRPB) जो की एनसीआर की प्लानिंग मैनेजमेंट सिस्टम है. इसने अभी तक 2 प्लान दिए है एक Regional Plan 2001 और Regional Plan 2021. इस प्लान का सबसे बड़ा उद्देश्य है की एनसीआर में रहने वाले लोगो को कौन कौन सी सुविधाएं दी जायेंगे इसमें ट्रांसपोर्ट, टेलेकम्युनिकशन्स, इलेक्ट्रिसिटी, waste मैनेजमेंट, वाटर सप्लाई, एजुकेशन, हेल्थ और जो भी आम जनता की सुविधाएं.

NCRPB सभी चीज़ो को मैनेज करता है और क्षेत्र में मौजूद बाकि सभी जिले में भी वही सुविधाएं दी जाती है जो की दिल्ली में रहने वाले लोगो को मिलता है. ऐसे में आम जनता है के लिए ये बड़ा बेनिफिट होता है.

दोस्तों यहाँ पर Delhi NCR full form के बारे में बताया गया है और इसके अंतर्गत आने वाले शहरों के बारे में बताया गया है ताकि आपको जानकारी मिल सके की एनसीआर में आने वाले शहर को क्या फायदे मिलते है. अगर कोई शहर इसके साथ जुड़ना चाहता है तो कैसे जुड़ सकता है. अगर आपका कोई विचार है तो कमेंट में इसके बारे में बताये.

100 लोगो ने शेयर किया

Leave a Comment