Computer किसने बनाया? दुनिया का सबसे पहले कंप्यूटर का नाम

कंप्यूटर का आधुनिकरण हो गया है आज के समय कंप्यूटर के कई रूप हो गये है जैसे की लैपटॉप, पाल्म्टॉप, डेस्कटॉप, मिनीफ्रेम, सुपरकम्प्युटर. लेकिन क्या आप जानते है दुनिया के सबसे पहले कंप्यूटर को किसने बनाया? कंप्यूटर शब्द सबसे पहले किसने इस्तेमाल किया. शायद नहीं क्योकि इसके जनक का नाम इस आधुनिकरण में कही छिप गया है.

लेकिन आज पर्दा उठेगा और हम जानेंगे की पहला कंप्यूटर किसने बनाया? और उसका नाम क्या था? अगर आप इस तरह जानकारी के बारे में सर्च कर रहे है तो आप सही जगह है. विश्व का प्रथम कंप्यूटर के साथ-साथ हम इससे जुड़े बहुत सवालों के बारे में जानकारी हासिल करेंगे जो भी आपको चाहिए इसके बारे में.

sabse pahla computer kisne banaya

Computer किसने बनाया?

भारत में कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ इस सवाल का जवाब बहुत सारे लोग जानते है लेकिन बहुत सारे लोग जानना चाहते है. इस समय हम 21वीं शताब्दी में है और इस समय fast, compact और reliable computer हमें मिल जाते है. लेकिन इसकी शुरुआत ऐसी नहीं थी 19वीं शताब्दी में सबसे पहले कंप्यूटर शब्द का नाम आया और इसे दुनिया के सबसे पहले लाने वाले व्यक्ति का नाम है Charles Babbage. Charles Babbage एक माथमेटिशन थे जो की बाद में कंप्यूटर साइंस इंजीनियर के साथ बहुत फेमस हुए.

Charles Babbage ने दुनिया का सबसे पहला कंप्यूटर बनाया और इन्हे इसी वजह से Father of computer भी कहा जाता है. कम्प्यूटर इतिहास के शायद पहले ये बड़ा नाम है जो की अमेरिका का नहीं इंग्लैंड का रहने वाला थे क्योकि कंप्यूटर इतिहास में सबसे ज्यादा योगदान अमेरिका engineers का है.

19वीं शताब्दी में गणना करने के लिए बेसिक कैलकुलेटर सिस्टम का इस्तेमा किया जाता था उस समय Charles Babbage ने लोगो के सामने गणना करने के लिए एक नए शब्द को लाकर लोगो के सामने रखा जिसका नाम कंप्यूटर था और लोग उस समय सोच भी नहीं सकते थे की यह आगे जाकर दुनिया का सबसे पावरफुल इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस होने वाला है.

Charles Babbage के कंप्यूटर का क्या नाम था?

सन 1820 में Charles Babbage ने दुनिया का सबसे पहला कंप्यूटर बनाया यह बेसिक गणना करने का काम करता था और इसे दुनिया का सबसे पहला कांसेप्ट कंप्यूटर मन जाता है इसका नाम Difference engine था. Difference engine के माध्यम से सामन्य गणतीय प्रोब्लेम्स को सोल्वे किया जा सकता था जैसे की जोड़ना, घटना, गुना और भाग इसके साथ इसमें logarithmic और trigonometric के फंक्शन्स दिए गए थे.

Difference engine

लेकिन Charles Babbage यह कंप्यूटर साइज में बहुत बड़ा था और इसमें Mechanical device बहुत ज्यादा लगे थे जिसकी वजह से इसे Mechanical computer भी कहा जाता है. इसका साइज एक कमरे के बराबर था जिसे एक जगह से दूसरे जगह नहीं ले जाया जा सकता था. लेकिन यह कंप्यूटर इतिहास का सबसे बड़ा गवाह बना की फ्यूचर में कुछ आने वाला है कैलकुलेटर से ज्यादा पावरफुल होगा.

दुनिया का पहला Programmable Computer का क्या ना है?

ENIAC जिसका फुल फॉर्म होता है Electronic Numerical Integrator and Computer यह दुनिया का पहला programmable, electronic, general-purpose digital computer है जिसे 1945 में बनाया गया था और इसी साल इसे काम पर लगा दिया गया था.

ENIAC

इस कंप्यूटर को डिज़ाइन करने और बनाने का काम US Army ने किया था और इसलिए सबसे पहले इसे US army के लिए इस्तेमाल किया गया यह बड़े-बड़े न्यूमेरिकल प्रॉब्लम सोल्वे में सक्षम था और इसमें प्रोग्रामिंग के माध्यम से बदलाव भी किये जा सकते थे इसमें मैकेनिकल डिवाइस की जगह ज्यादातर इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस का इस्तेमाल किया गया था.

पहला programmable कंप्यूटर बनाकर अमेरिका दुनिया के सामने एक नयी दुनिया का मिसाल रखा और एक मशहूर newspaper इस कंप्यूटर का नाम दिया Giant Brain. ENIAC उन कैलकुलेशन को 30 सेकंड में पूरा कर देता जो की एक आम इंसान को करने में 20 घंटे लगते है और इसी वजह से एक ENIAC को 2,400 इंसान के बराबर माना जाने लगा.

कंप्यूटर की पीढ़ियाँ (Generations of Computers)

जब पहला programmable computer बन गया जो डिजिटल और इलेक्ट्रॉनिक्स devices और technologies पर काम करता था. उसके बाद पूरी दुनिया में एक औद्योगिक क्रांति आ गयी दुनिया की हर बड़ी कंपनी कंप्यूटर में अपना हाथ आज़माना चाहती थी और अलग -समय समय पर सभी कम्पनीज ने मिलकर ऐसे इलेक्ट्रॉनिक्स devices बनाये जो की कंप्यूटर आधुनिकरण में बहुत काम आये और इसी आधार पर कंप्यूटर को कई पढियों में बांटा गया है.

इन पीढयों को Computer generations कहा जाता है और इन्हे कुल 5 generations में बांटा गया है.

  1. First generation (1940 – 1956)
  2. Second generation (1956 – 1963)
  3. Third generation (1964 – 1971)
  4. Fourth generation (1972 – 2010)
  5. Fifth generation (2010 to present)

First generation (1940 – 1956):

Vacuum tube

पहली पीढ़ी के कंप्यूटर में Vacuum tube सबसे बड़ी technology थी और इसका इस्तेमाल 1940 से लेकर 1945 तक किया गया. चुकी Vacuum tube साइज में बहुत बड़े और वजनदार होते थे इसलिए पहली पीढ़ी के कंप्यूटर साइज में बहुत, वजनदार होते थे जिन्हे एक जगह से दूसरे जगह नहीं ले जाया जा सकता था.

ENIAC पहली पीढ़ी के कंप्यूटर का example है इसमें 20,000 vacuum tubes, 10,000 capacitors और 70,000 resistors लगे और इसका वजन 30 टन से भी ज्यादा था. इसके साथ EDSAC, IBM 701 भी पहली पीढ़ी के कंप्यूटर है.

Second generation (1956 – 1963)

transistors

इसी पीढ़ी में हमें एक नयी टेक्नोलॉजी देखने को मिला जिसका नाम transistors था और इसने कंप्यूटर से vacuum tubes काम ख़त्म कर दिया अब computers में vacuum tubes की जगह पर transistors का इस्तेमाल होने लगे थे. जिसकी वजह से कंप्यूटर का साइज थोड़ा छोटा हो गया और वजन भी कम हो गया इसके साथ-साथ कंप्यूटर की प्रोसेसिंग भी फ़ास्ट हो गयी.

इस पीढ़ी के कंप्यूटर थे IBM 7070, Philco Transac S-1000, और RCA 501 इन सभी में TX-0 transistors का इस्तेमाल किया जाता था जिसका अविष्कार 1956 हुआ था.

Third generation (1964 – 1971)

IC

तीसरी पीढ़ी के कम्प्यूटर्स में एक नए टेक्नोलॉजी ने जगह लिया IC (integrated circuits) और इनसे कंप्यूटर से transistors काम ख़त्म कर दिया। इससे कंप्यूटर का साइज और छोटा हो गया और यह दूसरे पीढ़ी के कंप्यूटर से ज्यादा फ़ास्ट कैलकुलेशन करने लगे.

IC का अविष्कार दुनिया में कंप्यूटर का रूप बदल दिया और आपको उम्मीद नहीं होगा आज भी ICs का इस्तेमाल कंप्यूटर में किया जाता है और इसी वजह से तीसरी पीढ़ी को गोल्डन पीढ़ी के नाम भी जाना जाता है.

Fourth generation (1972 – 2010)

Microprocessor

चौथी पीढ़ी मानव जीवन में सबसे ज्यादा कंप्यूटर बढ़ावा दिया कंप्यूटर एक बड़े कमरे से निकल कर लोगो के डेस्क तक आ गए और इसी पीढ़ी में microprocessor का अविष्कार हुआ जिसने कंप्यूटर को सुपरफास्ट, कॉम्पैक्ट और डेस्कटॉप बना दिया.

इसी पीढ़ी के कंप्यूटर को आम आदमी खरीद सकते हैं और आराम से घर ले जा सकते है. इस पीढ़ी के कुछ मुख्य कंप्यूटर Altair 8800, IBM 5100, और Micral.

Fifth generation (2010 to present)

AI

कंप्यूटर युग का सबसे आधुनिक पीढ़ी जिसमे AI (Artificial Intelligence) का इस्तेमाल किया जाता है और कंप्यूटर डेस्क से लोगो के हाथ में आ गए. यह पीढ़ी 2010 से लेकर अभी तक चल रही है और आगे भी चलती जाएगी की क्योकि AI में बहुत कुछ अभी कंप्यूटर को हासिल करना है.

अब इंसान अपने भाषा में कंप्यूटर से बात कर सकते है उसे जिस तरीके से चाहे इस्तेमाल कर सकते है. Cortana, Siri, Alexa जैसे AI technologies हमें इसी युग के कंप्यूटर में देखने मिले प्रोग्रामिंग language के माध्यम से कंप्यूटर कुछ भी कर सकता है, मेडिकल साइंस से लेकर सौरमंडल तक कंप्यूटर का परचम है और इस समय पूरी दुनिया में कंप्यूटर का राज है.

कंप्यूटर से जुड़े सवाल & जवाब

Q1. विश्व का प्रथम कंप्यूटर कौन सा है?

Ans. विश्व के सबसे पहले कंप्यूटर का नाम ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) है. यह सन 1946 में बना था.

Q2. भारत का पहला कंप्यूटर कौन सा है?

Ans. भारत का पहला कंप्यूटर हैं TIFRAC (Tata Institute of Fundamental Research Automatic Calculator) जोकि सन 1950 में बनकर तैयार हुआ था.

 Q3. भारत का पहला सुपर कंप्यूटर कौन सा है?

Ans. इंडिया का पहला सुपरकंप्यूटर Param Shivay है जिसे IIT BHU में स्थापित किया गया था.

दोस्तों हमने यहाँ पर कंप्यूटर इतिहास, कंप्यूटर जन्मदाता के साथ कंप्यूटर जनरेशन के बारे में जानकरी हासिल किया आज के समय का कंप्यूटर सबसे आधुनिक है. अगर आपको इससे जुड़े कोई सवाल है तो कमेंट में आप पूछ सकते है अब उन सवालों को साथ में जोड़ देंगे ताकि आपको एक जगह पर सारी जानकारी मिल सके.

100 लोगो ने शेयर किया

Leave a Comment