Vegetables Name in Hindi – सब्जियों के इंग्लिश और हिन्दी नाम

Vegetables Name in Hindi सब्जी के बिना किसी काम नहीं चल सकता है यह एक ताज़ा खाद्य वास्तु है. जिसे सभी इंसान पका के खाते है और इंसानो के लिए सब्जी एक शाकाहारी खाद्य प्रदार्थ है. आज के समय में बहुत सारे हाइब्रिड और अलग किस्म की सब्जिया आते है और यहाँ हम उन्ही में से सब्जियों के नाम जानने वाले है यानि Vegetables Name in Hindi ऐसे में अगर आप नहीं जानते है इनका हिंदी और इंग्लिश नाम तो यहाँ पर आपको जानकारी मिल जायेगा.

आप सभी जानते है की अभी मार्किट हर जगह सब्जी के नाम इंग्लिश और हिंदी में लिखे होते है लेकिन लोग ज्यादातर इंग्लिश नाम बोलना पसंद करते है. ऐसे में अगर आपको जानकारी है की हिंदी और इंग्लिश में सब्जियों के नाम क्या होते है तो आप तुरंत सामने वाले को बोल सकते है. बहुत बार ऐसा होता है की सामने वाला किसी सब्जी का नाम इंग्लिश में बोलता है तो हमें समझ में नहीं आता है की वह किसका नाम ले रहा है.

अगर व्यक्ति को शुद्ध सब्जी खाने को मिले तो उसके शरीर में कभी विकार नहीं होगा और हमेशा वह फिट रहेगा क्योकि सब्जियों में प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहैड्रेट, पोटैसियम जैसे बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते है. जो की हमारे शरीर को फिट रखने में मदद करते है. यहाँ पर आईये जानते है सब्जियों के नाम हिंदी और इंग्लिश में

सब्जियों के नाम हिंदी और इंग्लिश में ( Vegetables Name In Hindi & English)

1. Garlic (गार्लिक) – लहसुन

लहसुन प्याज की एक प्रजाति है और इसका वैज्ञानिक नाम एलियम सैटिवुम एल होता है. यह एक फायदेमंद होता है हमारे शरीर के लिए लहसुन खाने से हाई बीपी (Garlic For High BP) में आराम मिल सकता है.

Garlic

2. Ginger (जिंजर) – अदरक

यह के भूमिगत रूपान्तरित तना है और इसमें बहुत सारे औषधीय गुण होता है.  पोषक तत्वों और बायोएक्टिव यौगिकों से भरा हुआ अदरक इंसान के आपके शरीर और दिमाग के लिए लाभकारी होता है. यहां आज हम आपको अदरक के कुछ फायदों के बारे में बता रहे हैं जो कि इसके नियमित सेवन से होते हैं. अदरक को फ्रेश, सूखा, पाउडर, ऑयल या जूस के रूप में लिया जा सकता है. खाने की चीजों और सौंदर्य प्रसाधन आदि में इस्तेमाल किया जाता है। यह खाने की रेसिपी में इस्तेमाल की जाने वाली बहुत सामान्य सामग्री है.

Ginger

3. Potato (पोटैटो) – आलू

आलू एक सब्जी है वनस्पति विज्ञान की दृष्टि से यह एक तना है. आलू दुनिया में सबसे ज्यादा लोकप्रिय और सबसे ज्यादा प्रयोग की जाने वाली सब्जी है। आलू पूरी दुनिया में उगाया जाता है, लेकिन इसका मूल स्थान दक्षिण अमेरिका है.

Potato

4. Green chili (ग्रीन चिल्ली) – हरी मिर्च

भोजन में तीखापन लाने वाली हरी मिर्च, स्वाद के साथ ही सेहत के लिए भी गुणों का खजाना है. हरी मिर्च कई तरह के पोषक तत्वों जैसे- विटामिन ए, बी6, सी, आयरन, कॉपर, पोटेशियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होती है. यही नहीं इसमें बीटा कैरोटीन, क्रीप्टोक्सान्थिन, लुटेन -जॅक्सन्थि‍न आदि स्वास्थ्यवर्धक चीजें मौजूद हैं.

Green chili

5. Jackfruit (जैकफ्रूट) – कटहल

कटहल दक्षिण एशिया तथा दक्षिण-पूर्व एशिया का देशज वृक्ष है. पेड़ पर होने वाले फलों में इसका फल विश्व में सबसे बड़ा होता है. लेकिन इसके गुणकारी लाभ जानकर आप इसे आजमाएं बिना नहीं रह सकते। सब्जी, अचार और पकौड़े के अलावा इसे तल कर भी खाया जाता है.

Jackfruit

6. Lady Finger (लेडी फिंगर) – भिन्डी

भिण्डी एक सब्जी है. इसका वृक्ष लगभग १ मीटर लम्बा होता है. बनारस में इसे ‘राम तरोई’ कहते हैं और छत्तीसगढ में इसे ‘रामकलीय’ कहते हैं. भिण्डी एक सब्जी है. इसका वृक्ष लगभग १ मीटर लम्बा होता है। बनारस में इसे ‘राम तरोई’ कहते हैं और छत्तीसगढ में इसे ‘रामकलीय’ कहते हैं.

Lady Finger

7. Mushroom (मशरुम) – कुम्भी, कुकुरमुत्ता

कुकुरमुत्ता (mushroom या toadstool) कवक से बना एक मांसल, बीजाणु-युक्त फलने वाला पिण्ड है जो प्रायः जमीन के ऊपर पैदा होता है और भोजन का अच्छा स्रोत है. कुकुरमुत्ता कुकुरमुत्ता (मशरूम) एक प्रकार का कवक है, जो बरसात के दिनों में सड़े-गले कार्बनिक पदार्थ पर अनायास ही दिखने लगता है। इसे या खुम्ब, ‘खुंबी’ या मशरूम भी कहते हैं. यह एक मृतोपजीवी जीव है जो हरित लवक के अभाव के कारण अपना भोजन स्वयं संश्लेषित नहीं कर सकता है.

Mushroom

8. Mustard Greens (मस्टर्ड ग्रीन्स) – सरसों पत्ता

सरसों के पत्तों में बहुत से पोषक तत्व होते हैं. नवंबर से मार्च तक ये आसानी से मिल जाते हैं और तभी इनका स्वाद लाजवाब होता है. फूल आने से पहले सरसों के कच्चे पत्ते तोड़कर इसकी सब्जी बनाई जाती है. सरसों के पत्ते विटामिन और खनिज का भंडार होते है। इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन A , C और K होते हैं. यह प्रोटीन , कार्बोहाइड्रेट , आयरन , मेग्नेशियम , कैल्शियम , ज़िंक , कॉपर , पोटेशियम , सेलेनियम , मेगनीज , फोलेट तथा फाइबर का यह अच्छा स्रोत है.

Mustard Greens

9. Natal plum (नेटल पल्म) – करोंदा

करोंदा एक झाड़ी नुमा पौधा होता है. इसका वैज्ञानिक नाम कैरिसा कैरेंडस (Carissa carandus) है. करोंदा के फलों का उपयोग सब्जी और अचार बनाने में किया जाता है. करौदें के फल पकने के बाद काले पड़ जाते हैं। इसलिए इसको कृष्णपाक फल कहते हैं.

Natal plum

10. Cauliflower (कॉलीफ्लॉवर) – फूलगोभी

फूलगोभी एक लोकपिय सब्जी है. उत्त्पति स्थान साइप्रस या इटली का भूमध्यसागरीय क्षेत्र माना जाता है. भारत में इसका आगमन मुगल काल में हुआ माना जाता है. फूलगोभी का रंग आपने अभी तक सफेद या मटमैला सफेद ही देखा होगा. चटक गुलाबी और पीले रंग की फूलगोभी कभी नहीं देखी होगी.

Cauliflower

11. Onion (अनियन) – प्याज

प्याज़ एक वनस्पति है जिसका कन्द सब्ज़ी के रूप में प्रयोग किया जाता है. भारत में महाराष्ट्र में प्याज़ की खेती सबसे ज्यादा होती है. यहाँ साल मे दो बार प्याज़ की फ़सल होती है. इसका वैज्ञानिक नाम एलियम सेपा (Allium Cepa) है. इसे विभिन्न भाषाओं में अलग-अलग नाम से बुलाया जाता है। हिंदी में इसे प्याज के साथ-साथ कांदा और डुंगरी भी कहा जाता है.

Onion

12. Peas (पीज) – मटर

मटर एक फूल धारण करने वाला द्विबीजपत्री पौधा है। इसकी जड़ में गांठे मिलती हैं. मटर में ऐसे कई पोषक तत्व हैं, जो गंभीर से गंभीर बीमारियों से बचाव करने में सक्षम हो सकते हैं. स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम मटर के इन्हीं गुणों पर चर्चा करेंगे, साथ ही इसके उपयोग के विभिन्न तरीकों और इसके नुकसान से भी आपको रूबरू कराएंगे.

Peas

13. Peppermint (पेपरमिंट) – पुदीना

पुदीना मेंथा वंश से संबंधित एक बारहमासी, खुशबूदार जड़ी है. पुदीना में एंटीवायरल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में सक्षम हैं। पुदीने में कई सारे पोषक तत्व भी होते हैं. जैसे- मेंथोल, आयरन, वसा, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, मैंगनीज, विटामिन सी, विटामिन-ए, राइबोफ्लेविन और कॉपर आदि पोषक तत्व होते हैं.

Peppermint

14. Pointed Gourd (पॉइंटेड गॉर्ड) – परवल

परवल या ‘पटल’ एक प्रकार की सब्ज़ी है. इसकी लता जमीन पर पसरती है. परवल की भुजिया और सब्जी (parwal ki sabji)  बनाकर खाते हैं। आयुर्वेद के अनुसार इसके सेहतमंद फायदे भी बहुत हैं. इसके अलावा कफ और पित्त को कम करने में भी मदद करता है. पटोल के पत्ते वीर्य (semen) समस्याओं में भी फायदेमंद होते हैं.

Pointed Gourd

15. Purslane (पर्सलेन) – कुलफा

कुलफा प्रकृति ने अपने खजाने से हमको हमेशा ही भरपूर किया है, बस हम ही उसको पहचान नहीं पाते. इस जंगली घास को भारतीय भाषा में लोणी, बड़ी लोणा, लोणा शाक, खुरसा, कुलफा, लुनाक, घोल, लोनक इत्यादि नामो से जाना जाता है.

Purslane

16. Radish (रेडिश)   – मूली

मूली (राफानुस सैटियस) ब्रैसिसेकी परिवार की, मिट्टी के भीतर पैदा होने वाली एक सब्जी है. आप कई बीमारियों में मूली के सेवन से स्वास्थ्य लाभ पा सकते हैं, और अनेक रोगों की रोकथामकर सकते हैं. आयुर्वेद में मूली के बारे में बहुत सारी बातें बताई गई हैं.

Radish

17. Luffa (लुफ़्फ़ा) – तोरई

तोरई, तोरी या तुराई (वैज्ञानिक नाम : Luffa acutangula) एक लता है जिसके फल सब्जी बनाने के काम आते हैं.  आयुर्वेद में यह बताया गया है कि तोरई (Ridge gourd in hindi) पचने में आसान होती है, पेट के लिए थोड़ी गरम होती है। कफ और पित्त को शांत करने वाली, वात को बढ़ाने वाली होती है.

Luffa

18. Snake Gourd (स्नेक गॉर्ड) – चिचिण्डा, चचेंडा

चचेंड़ा (Snake gourd)एक सब्जी है. वैकल्पिक नाम चचिण्डा है. यह अच्छी वर्षा वाले इलाकों में लता रूप में पाई जाती है। चिचिण्डा का प्रयोग सामान्य तौर पर भोजन (Chichinda vegetable) के लिए होता ही है.

Snake Gourd

19. Spinach (स्पिनच) – पालक

पालक का अमरन्थेसी कुल का फूलने वाला पादप है. हरे रंग की पत्तेदार सब्जियों में आपने कभी न कभी पालक का स्वाद जरूर चखा होगा। भारत में पालक का बड़े पैमाने पर प्रयोग किया जाता है. पालक की यह प्रजाति भी काफी लोकप्रिय है. सेवॉय पालक की तुलना में इसकी पत्तियां कम सिकुड़ी हुई होती हैं. इसको घर में भी उगाया जा सकता है। इस पालक को पौष्टिक गुणों से भरपूर माना जाता है.

Spinach

20. Sweet Potato (स्वीट पोटेटो) – शकर कन्द

शकरकंद को मीठा आलू (sweet potato in hindi) भी कहते हैं. आम तौर पर उपवास के समय शकरकंद को उबालकर खाया जाता है क्योंकि ये एनर्जी या ऊर्जा का स्रोत होता है. शकरकंद सुचूर्ण तथा अच्छी जोती हुई भूमि में अच्छा उपजता है. इसके लिए मिट्टी बलुई से बलुई दुमट तथा कम पोषक तत्व वाली अच्छी होती है। भारी और बहुत समृद्ध मिट्टी में इसकी उपज कम और जड़ें निम्नगुणीय होती हैं.

Sweet Potato

21. Tomato (टोमेटो) – टमाटर

टमाटर विश्व में सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाली सब्जी है. सब्जी की टोकरी में सामान्य-सा दिखाई देने वाला टमाटर, कई असामान्य गुणों से भरपूर होता है। यह न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता है, बल्कि इसके अंदर पाए जाने वाले विटामिन-ए और विटामिन-सी जैसे कई गुणकारी तत्व स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होते हैं.

Tomato

22. Turmeric (टरमेरिक) – हल्दी

हल्दी एक जड़ी-बूटी है इसका इस्तेमाल मसालों के रुप में प्रमुखता से किया जाता है. हिंदू धर्म में पूजा में या कोई भी शुभ काम करते समय हल्दी का उपयोग किया जाता है. हल्दी को आयुर्वेद में प्राचीन काल से ही एक चमत्कारिक द्रव्य के रूप में मान्यता प्राप्त है. हल्दी हमारे शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाती है जिस वजह से तमाम तरह की संक्रामक बीमारियों से बचाव होता है.

Turmeric

23. Turnip (टर्निप) – शलगम

शलजम (turnip) एक सफेद कंदमूल वाली सब्जी है, जो पौष्टिकता से भरपूर होने के कारण स्वास्थ्यवर्द्धक होता है। इसमें कैलोरी बहुत कम होता है. शलजम (turnip) एक सफेद कंदमूल वाली सब्जी है, जो पौष्टिकता से भरपूर होने के कारण स्वास्थ्यवर्द्धक होता है। इसमें कैलोरी बहुत कम होता है. कोई इसे रूस का और कोई इसे उतरी यूरोप का देशज मानते हैं। आज यह पृथ्वी के प्राय: समस्त भागों में उगाया जाता है.

Turnip

24. White Goose Foot (वाइट गूस फुट) – बथुआ

औषधीय गुणों से भरपूर बथुआ, बथुआ एक ऐसी सब्जी है जिसके गुणों से ज्यादातर लोग अपरिचित हैं. बथुआ हर घर में खाया जाने वाला आम साग है। इसमें बहुत सा विटामिन ए, कैल्शियम, फॉस्फोरस और पोटैशियम होता है. कई बीमारियां दूर करने के लिए भी बथुए का प्रयोग किया जाता है. एशिया समेत यह अमेरिका, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है

25. Horse Beans (हॉर्स बीन्स) – बाकला अथवा सेम फली

सेम एक प्रकार का लता होता है, जिसकी फलियों को खाने के लिए प्रयोग किया जाता है. सेम एक प्रकार का लता होता है, जिसकी फलियों को खाने के लिए प्रयोग किया जाता है.

Horse Beans

26. Fenugreek Leaf (फेनुग्रीक लीफ) – हरी मेथी

हरी मेथी गुणों की खान है. आप इसे न केवल सब्जी के रूप में बल्क‍ि पराठे के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं. ज्यादातर लोगों को पेट संबंधी समस्याएं परेशान करती हैं, जिनमें कब्ज और गैस भी शामिल है। मेथी की हरी सब्जी को खाने से आपका पाचन तंत्र सुचारू रूप से कार्य करता है और कब्ज व गैस की समस्या से आपको निजात मिलती है.

Fenugreek Leaf

27. Chickpeas (चिकपीस) – चना

चना चना एक प्रमुख दलहनी फसल है. ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए भीगा हुआ चना खाना आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है. फाइबर व प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण चना इस बीमारी के खतरे को रोकता है.

Chickpeas

28. Brinjal (ब्रिंजल) – बैगन

बैंगन भारत का देशज है. प्राचीन काल से भारत से इसकी खेती होती आ रही है। ऊँचे भागों को छोड़कर समस्त भारत में यह उगाया जाता है. बैंगन हर मौसम में मिलने वाली सब्जियों में से एक है. आपको बता दें कि स्वास्थ्य के लिहाज से बैंगन एक बेहद फायदेमंद सब्जी है.

Brinjal

29. Amaranth (ऐमरंथ) – चौलाई की सब्जी

चौलाई पूरे साल मिलने वाली सब्जी है. इसका प्रयोग बहुतायत से किया जाता है. यह पित्त-कफनाशक एवं खांसी में उपयोगी है. आप चौलाई (amaranth grain) के फायदे दांतों के रोग, कंठ की बीमारियां, दस्त, पेचिश, ल्यूकोरिया, घाव, रक्त-विकार आदि में ले सकते हैं. हरी किस्म के चौलाई के पौधों की डण्डी और पत्ते का पूरा भाग हरे रंग का होता है.

Amaranth

30. Arrowroot (अरोरूट) – अरारोट, शिशुमूल

एक बहुवर्षी पौधा होता है. यह वर्षा वन का आवासी है. इसके राइज़ोम से प्राप्त होने वाले खाद्य मंड (स्टार्च) को भी अरारोट ही कहा जाता है. इसमें बहुत से विटामिन व खनिज पाए जाते है जो सेहत को स्वस्थ रखने में फायदेमंद साबित होते है. इसका उपयोग वजन कम करने व पाचन क्रिया को मजबूत करने के लिए किया जाता है.

Arrowroot

31. Beetroot (बीटरूट) – चकुंदर

चुकंदर 30-90 सेमी ऊँचा, मांसल, कंद (bulb), मोटा तना वाला, शाकीय पौधा होता है. इसके पत्ते मूली या शलगम के पत्ते जैसे होते हैं. अपने गहरे लाल रंग के लिए लोकप्रिय चुकंदर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है. शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ानी हो या सौंदर्यता बरकरार रखनी हो, चुकंदर के फायदे कई हैं.

Beetroot

31. Bitter Melon (बिटर मेलोन) – करेला

करेला या मोमोर्दिका चरैन्शिया कुकुरबिटेसी कुल की एक उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय लता या बेल है जिसे एशिया और कैरेबियाई क्षेत्रोन में इसके खाद्य फल के लिए व्यापक रूप से उगाया जाता है. करेला में मौजूद पोषक तत्वों (karela nutrition) की जानकारी अधिकांश लोगों को है ही नहीं इस कारण अनेक लोग इसका प्रयोग नहीं कर पाते.

Bitter Melon

32. Black Pepper (ब्लैक पीपर) – काली मिर्च

काली मिर्च का सेवन करने से सर्दी के मौसम में होने वाली खांसी और जुकाम से आपको राहत मिलती है. साथ ही इसके सेवन से आपका गला भी साफ रहता है. घर में रखे मसाले स्वाद और स्वास्थ्य दोनों के लिए बेस्ट होते हैं. इसलिए भारतीय घरों की रसोई में काली मिर्च, लौंग, इलायची, अज्वाइन जैसे अनेकों मसाले रखे होते हैं. आज बात करते हैं काली मिर्च की. यह मसाला भी स्वास्थ्य के लिए रामबाण है. इससे शरीर को कई तरीके के फायदे होते हैं.

Black Pepper

33. Bottle Gourd (बोटल गॉर्ड) – घिया, लौकी

लौकी (वैज्ञानिक नाम : Lagenaria siceraria) एक सब्ज़ी है. अक्सर लोग सब्जी के रुप में ही लौकी खाना पसंद करते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि लौकी के अनगिनत औषधीय फायदे भी है जिसके कारण आयुर्वेद में लौकी को उपचार के रुप में इस्तेमाल किया जाता है.

Bottle Gourd

34. Pumpkin (पम्पकिन) – कद्दू

कुम्हड़ा या कद्दू एक स्थलीय, द्विबीजपत्री पौधा है जिसका तना लम्बा, कमजोर व हरे रंग का होता है. कद्दू के बीज भी बहुत गुणकारी होते हैं। कद्दू व इसके बीज विटामिन सी और ई, आयरन, कैलशियम मैग्नीशियम, फॉसफोरस, पोटैशियम, जिंक, प्रोटीन और फाइबर आदि के भी अच्छे स्रोत होते हैं.

Pumpkin

35. Cabbage (कैबेज) – पत्तागोभी

पत्ता गोभी को लेकर ऐसे तमाम लोगों के डर की वजह वह कृमि यानी कीड़ा है, जो पत्ता गोभी के सेवन से आपके शरीर में पहुंचता है और फिर दिमाग में प्रवेश कर जाता है. दिमाग में पहुंचने पर यह सूक्ष्म कृमि आपके लिए जानलेवा साबित हो जाता है.पत्ता गोभी को लेकर ऐसे तमाम लोगों के डर की वजह वह कृमि यानी कीड़ा है, जो पत्ता गोभी के सेवन से आपके शरीर में पहुंचता है और फिर दिमाग में प्रवेश कर जाता है. दिमाग में पहुंचने पर यह सूक्ष्म कृमि आपके लिए जानलेवा साबित हो जाता है.

Cabbage

36. Capsicum (कैप्सिकम) – शिमला मिर्च

शिमला मिर्च, मिर्च की एक प्रजाति है जिसका प्रयोग भोजन में सब्जी की तरह किया जाता है. ताजी हरी शिमला मिर्च में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन के, फाइबर, कैरोटीनॉइड्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है.

Capsicum

37. Carrot (कैरट) – गाजर

गाजर एक सब्ज़ी का नाम है. यह लाल, काली, नारंगी, कई रंगों में मिलती है. यह पौधे की मूल (जड़) होती है. लाल ताजा गाजर को देखकर सबसे पहले हलवे की याद आती है. गाजर का जूस हो या हलवा हर रुप में वह स्वास्थ्य के लिए हितकर होता है.

Carrot

38. Coriander Leaf (कोरिएंडर लीफ) – हरा धनिया

धनिया को औषधि के रूप में भी प्रयोग में लाया जाता है, और इससे कई रोगों की रोकथाम, या इलाज किया जाता है. सर्दियों में हर किसी की रसोई में पकने वाले व्यंजन में हरा धनिया डाला जाता है. यह खाने स्वादिष्ट तो बनाता ही है साथ ही इसकी खूशबू से खाना और भी टेस्टी लगता है.

Coriander Leaf

39. Maize (मेज़) – मक्का

मक्का (वानस्पतिक नाम : Zea mays) एक प्रमुख खाद्य फसल हैं, जो मोटे अनाजो की श्रेणी में आता है. बरसात के समय भुट्टा या मक्के का मजा सब लेते हैं लेकिन इसके फायदों के बारे में कितने लोगों को पता है. आयुर्वेद में मक्का के औषधीय गुणों के आधार पर यह विभिन्न बीमारियों के उपचार में काम करता है.

Maize

40. Red Chilli (रैड चिल्ली) – लाल मिर्च

लाल मिर्च की बात याद आते ही तीखा, चटपटा स्वाद मुँह में आ जाता है. हर भारत के रसोईघर में व्यंजन में स्वाद लाने के लिए लाल मिर्च का उपयोग किया जाता है. लाल मिर्च हम कई तरीकों से अपने व्यंजन में उपयोग करते हैं. परंपरागत रूप से भारत में इसका उपयोग सरसों के तेल और अन्य मसालों के साथ तड़का लगाने के लिए भी किया जाता है.

Red Chilli

41. French Beans (फ्रेंच बीन्स) – गवार फली

ग्वार फली या क्लस्टर बीन एक वार्षिक फली है. ग्वार फली का वैज्ञानिक नाम सोफोकार्पस टेट्रागोनोलोबस (Cyamopsis tetragonolobus) है. ग्वार फली की सब्जी खाने में भले ही स्वादिष्ट ना हो लेकिन सेहत के लहाज से ये काफी फायदेमंद होती है। इसे नियमित रूप से डाइट में शामिल करने से कई परेशनियों से छुटकारा मिल सकता है.

French Beans

42. Curry Leaf (करी लीफ) – कढ़ी पत्ता

असल में कढ़ी पत्ता, तेज पत्ता या तुलसी के पत्तों, जो भूमध्यसागर में मिलनेवाली ख़ुशबूदार पत्तियां हैं, से बहुत अलग है. असल में कढ़ी पत्ता, तेज पत्ता या तुलसी के पत्तों, जो भूमध्यसागर में मिलनेवाली ख़ुशबूदार पत्तियां हैं, से बहुत अलग है.

Curry Leaf

43. Cucumber (कुकुम्बर) – खीरा

खीरा को सलाद के अतिरिक्त उपवास के समय फलाहार के रूप में प्रयोग किया जाता है. अगर आप खीरे का ज़्यादा मात्रा में सेवन करते हैं तो आपका पेट भरा हुआ महसूस होता है. खीरा फाइबर का अच्छा स्रोत है. यूं तो खीरा खाने के अनेकों फायदे होते हैं. खीरे में कई तत्व ऐसे पाए जाते हैं जो सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि खीरा खाने के कई नुकसान भी होते हैं.

Cucumber

44. Celery (सेलेरी)   – आजमोदा, अजवाइन

अजवाइन ही सैकड़ों प्रकार के अन्न को हजम करने में सहायता करती है. इसके साथ-साथ अजवाइन खाने के फायदे के रुप में यह भी बताया गया है. अजवायन (Thyme) एक झाड़ीनुमा वनस्पति है जो मसाला एवं औषधि के रूप में प्रयुक्त होती है.

Celery

45. Winter Melon (विंटर मेलन) – पेठा

पेठा या कुष्माण्ड एक बेल पर लगने वाला फल है, जो सब्जी की तरह खाया जाता है. पुष्प के साथ अंडाकार फल लगते हैं। कच्चा फल हरा, पर पकने पर श्वेत, बृहदाकार होता है. यह लता वार्षिकी, कठिन श्वेत रोमों से आवृत 5-6 इंच व्यास के पत्तों वाली होती है.

Winter Melon

46. Artichoke (आर्टिचोक्स) – वज्रांगी, हाथी चक

सभी रूपों में भूमध्यसागरीय मूल के बारहमासी मूल के बारहमासी हैं, जो बड़े-बड़े थिनल्स से मिलते जुलते हैं. फूलों के खिलने से पहले पौधे के खाद्य भाग में फूलों की कलियों होती है. उभरते हुए आटिचोक फूल-सिर कई उभरते छोटे फूलों (एक फूलना) का समूह है, साथ ही कई ब्रैक्ट्स के साथ, एक खाद्य आधार पर। एक बार जब कलियां खिलती हैं.

Artichoke

47. Keri (केरी) – कैरी

कच्चे आम का प्रयोग सिर्फ भोजन को स्वादिष्ट बनाने के लिए ही नहीं बल्कि स्वस्थ रहने के लिए भी किया जा सकता है. कच्चे आम के सेवन से रक्त संबंधी विकारों से बचा जा सकता है. कैरी में विटामिन सी अच्छी खासी मात्रा में मौजूद है, जो आपकी खूबसूरती का ध्यान तो रखता ही है, रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी इजाफा करता है। इसक प्रयोग आंखों के लिए भी फायदेमंद है.

Keri

48. Spine Gourd (स्पाइन गॉर्ड) – ककोरा/ कंटोला

ऐसी ही एक सब्जी है कंटोला. यह दुनिया की सबसे ताकतवर सब्जी है. इसे औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है. इस सब्जी में इतनी ताकत होती है कि महज कुछ दिन के सेवन से ही आपका शरीर फौलादी बन जाता है.  यह सिरदर्द, कानदर्द, खांसी, पेट संबंधी बीमारियां, बवासीर, खुजली जैसे आम बीमारियों के उपचार में फायदेमंद होता है. इसके अलावा बालों का झड़ना कम करने के साथ-साथ बालों को मजबूती भी प्रदान करता है

49. Lotus cucumber (लोटस कुकुम्बर) – कमल ककड़ी

लोटस रूट मतलब कमल के फूल यानि कमल की जड़ नीलम्बोनेसी (Nelumbonaceae) परिवार का एक जलीय पौधा है. कमल ककड़ी पोषक तत्वों का ख़ज़ाना है। सेहत के लिए इसे खाना बहुत ही फ़ायदेमंद है और इसका सेवन करने से शरीर के हर अंग को फायदा पहुँचाता है.

50. Mouse Melon (माउस मेलोन) – कचरी/ काचरा

काचरी विटामिन-सी का अच्छा स्त्रोत होने के साथ अनेक पौष्टिक तत्त्वों की खान भी है. इसमें पीले-पीले फूल लगते हैं।इसका फल सब्जी के रूप में प्रयोग किया जाता है. कचरी राजस्थान तथा आसपास के प्रदेशों की एक सुपरिचित तरकारी है। कचरी से बनी हुई लौंजी (सब्जी) अत्यन्त स्वादिष्ट एवं रूचिकर होती है.

51. Broccoli (ब्रोकली) – हरी गोभी/ ब्रोकोली गोभी

ब्रोकली एक स्वादिष्ट सब्जी है जिसकी मांग दिन प्रतिदिन बढ़ रही है. वैज्ञानिकों के अनुसार ब्रोकली भी गोभी की प्रजाति की ही एक सब्जी है। अंतर बस इतना है कि गोभी के मुकाबले ब्रोकली में ज्यादा मात्रा में फाइबर और विटामिन्स पाए जाते है. हाल के कुछ दिनों में मेट्रो शहरों में लोग फूलगोभी की बजाय ब्रोकली खाना ज्यादा पसंद करने लगे हैं। उनका मानना है कि ब्रोकली ज्यादा फायदेमंद है

52. Elephant Foot Yam  (एलीफैंट फुट याम) – जिमीकंद

जिमीकंद एक गुणकारी सब्जी है. देखने में मिट्टी के रंग की यह सब्जी जमीन के नीचे उगती है. इसे सूरन के नाम से भी जाना जाता है. भारत के विभिन्न राज्यों में जिमीकंद के भिन्न-भिन्न नाम ओल या सूरन हैं। पहले इसे गृहवाटिका में या घरों के अगल-बगल की जमीन में ही उगाया जाता था.

53. Green Long Beans (ग्रीन लॉन्ग बीन्स) – बरबटी

एक तरह की पतली लंबी फली जिसकी सब्ज़ी बनाई जाती है.

इन्हे भी देखे,

सब्जी के फायदे

हम सभी ने जान लिया की सब्जी नाम हिंदी और इंग्लिश में क्या है और हमने सभी के बारे में थोड़ा जानकारी भी हासिल कर लिया है. लेकिन Vegetable name जानना जरुरी नहीं है. इसके कुछ फायदे होते है जिनके बारे में जानकारी रखना होता है जब आप किसी सब्जी को पकाते है और खाते है तो उसका एक कारण होना चाहिए.

  • सब्जियों में बहुत सारे विटामिन और पौष्टिक तत्व पाए जाते है तो हमारे शरीर को फिट रखने के बहुत जरुरी है. यहाँ पर जितने भी सब्जियों के नाम बताये गए है सभी में आपको कोई ना कोई पौष्टिक तत्व जरूर मिलेगा.
  • सब्जियां खाने का एक अभिन्न हिस्सा है बिना इसके खाने में मज़ा नहीं है. शायद ही दुनिया में कोई ऐसा व्यक्ति हो जो सब्जी खाना ना पसंद करता हो सभी को सब्जिया पसंद होती है और आपका कोई पसंद है उसका नाम कमेंट में हमें जरूर बताये.
  • डॉक्टर हमारे स्वास्थ्य के हिसाब से किसी के सब्जी को खाने को कहते है और दूसरे को मना करते है. इसका मुख्य कारण है इनमे पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व कुछ ऐसे होते है जो हमारे शरीर के फायदेमंद होते है और कुछ नुकसानदायक होते है. ऐसे में डॉक्टर इसलिए किसी बीमारी की समय हमें मना कर देते है.

दोस्तों यहाँ पर हमने बताया है की सब्जियों के नाम हिंदी और इंग्लिश में होते है. जिन्हे आप vegetables name in hindi और सभी जानना चाहते है की सब्जियों को हिंदी में क्या कहते है और उनका नाम इंग्लिश में क्या होता है. तो यहाँ पर हमने एक पूरा लिस्ट बनाया है जिसमे आपको पूरी जानकारी मिल गया हो और आपको पता चल गया होगा की घर मौजूद किस सब्जी का नाम क्या है. अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो इसके बारे में आप हमें कमेंट में जानकारी दे सकते है. उम्मीद है ये जानकारी आपको पसंद आया.

100 लोगो ने शेयर किया

Leave a Comment